सीट शेयरिंग पर बोले मांझी- 'कांग्रेस से ज्यादा जनाधार, जीतने- जिताने दोनों की है ताकत'

जीतनराम मांझी ने फिर कांग्रेस से अधिक सीट लेने का दावा किया है.

सीट शेयरिंग पर बोले मांझी- 'कांग्रेस से ज्यादा जनाधार, जीतने- जिताने दोनों की है ताकत'
जीतनराम मांझी ने सीट शेयरिंग को लेकर बयान दिया है. (फाइल फोटो)

पटनाः बिहार महागठबंधन में सीट शेयरिंग को लेकर अभी भी फैसला नहीं हूआ है. वहीं, महागठबंधन के सहयोगी दलों में लगातार सीट शेयरिंग को लेकर बेचैनी बढ़ी है. कांग्रेस पहले ही आरजेडी से बराबर सीटों की बंटवारे को लेकर दवाब बना रहा है. वहीं, सहयोगी दल हम पार्टी ने कांग्रेस से अधिक सीटों का दावा ठोका है.

जीतनराम मांझी लगातार सीटों को लेकर बयान दे रहे हैं. उनका कहना है कि सीट शेयरिंग का फैसला अब जल्द हो जाना चाहिए. वहीं, बिहार में टिकट के लिए आरजेडी के बाद सबसे बड़ा दावेदार मांझी ने अपनी पार्टी को माना है. उनका कहना है कि कांग्रेस पार्टी का बिहार में कोई जनाधार नहीं है. बल्कि उससे अधिक जनाधार हम पार्टी के पास है.

जीतनराम मांझी ने कहा कि कांग्रेस तीन राज्यों में जीत दर्ज की है. और प्रियंका के आने से कांग्रेस और मजबूत हुई है. लेकिन इसके बाद उन्होंने कहा कि कांग्रेस मजबूत होने के बावजूद बिहार में कमजोर है. उनका जनाधार हम से अधिक नहीं है. बिहार में लालू यादव के बाद किसी का जनाधार है तो वह जीतनराम मांझी है.

मांझी ने कहा कि उनकी पार्टी के पास संसाधन कम हैं, जिसके बावजूद उन्होंने बिहार में 32 सीटों पर अपनी तैयारी की है. लेकिन हमने 20 सीटों के लिए अपने चुनाव चिन्ह आयोग को भेजा है. इसलिए हमें उन्हीं 20 सीटों पर टिकट चाहिए. हम 20 सीटों पर चुनाव लड़ने को तैयार है. उन्होंने कहा कि हम जीत भी सकते हैं और जीता भी सकते हैं.

वहीं, उन्होंने कहा कि वह जल्द ही आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव से सीट शेयरिंग को लेकर मुलाकात करेंगे. उन्होंने कहा कि बुरे समय में लालू यादव को बहु्त सहारा दिया है इसलिए सीटों को लेकर गंभीरता से विचार करने को कहेंगे.

जीतनराम मांझी ने कहा कि उनकी पार्टी ने चार से लगातार काम कर रही है. उनकी पार्टी चुनाव समर में कुल पांच राज्यों में उतरेगी, जिसमें बिहार, झारखंड, यूपी, उत्तराखंड, और दिल्ली शामिल हैं.