बिहार: जीतनराम मांझी के बागी तेवर, कहा- 'RJD के बाद हमें मिले सबसे अधिक सीट'

जीतनराम मांझी ने कहा है कि उनकी पार्टी की ताकत उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी से ज्यादा है इसलिए उनकी पार्टी को लोकसभा चुनाव में ज्यादा सीटें मिलनी चाहिए.

 बिहार: जीतनराम मांझी के बागी तेवर, कहा- 'RJD के बाद हमें मिले सबसे अधिक सीट'
जीतनराम मांझी ने कहा है कि वो किसी के बंधुवा मजदूर नहीं है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने बगावती तेवर अपना लिया है. जीतनराम मांझी ने सीट बंटवारे पर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि वो किसी के बंधुवा मजदूर नहीं है. महागठबंधन में उनकी पार्टी को उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी से ज्यादा सीटें चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर उनकी पार्टी को ज्यादा सीटें और उचित सम्मान नहीं मिला तो वो अलग रास्ते पर चले जाएंगे.

जीतनराम मांझी ने कहा है कि उनकी पार्टी की ताकत उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी से ज्यादा है इसलिए उनकी पार्टी को लोकसभा चुनाव में ज्यादा सीटें मिलनी चाहिए. जीतनराम मांझी ने कोर ग्रुप की बैठक के बाद यह साफ कर दिया है कि अगर महागठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं मिली तो वे अलग रास्ता चुन लेंगे और साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि आरजेडी को छोड़ जो भी महागठबंधन में पार्टियां हैं उनसे अधिक सीटें उन्हें चाहिए.

जीतनराम मांझी ने कहा है कि महागठबंधन के नेता मीडिया में 'हम' को एक या दो सीट मिलने की खबरें प्लॉट करवा रहे हैं. उन्होंने कहा कि किसी को उन्हें कमतर आंकने की गलती नहीं करनी चाहिए. महागठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं मिली तो हम अलग रास्ता चुन लेंगे.
 
मांझी ने कहा कि वे सीट शेयरिंग को लेकर आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव से मुलाकात करेंगे और महागठबंधन के दलों के साथ भी चर्चा करेंगे. अगर बात नहीं बनी तो फिर 18 फरवरी को कोर ग्रुप की बैठक में अंतिम फैसला लिया जाएगा.

वही जेडीयू ने मांझी के इस बयान पर चुटकी ली है. पार्टी के प्रवक्ता सुहेली मेहता ने कहा है कि मांझी इस गठबंधन के पुराने साथी है और आरजेडी और कांग्रेस को त्याग कर जीतन राम मांझी को 20 सीट देनी चाहिए.