झारखंड विधानसभा चुनाव: हेमंत सोरेन ने नक्सली हमला के बहाने BJP को घेरा

इस चुनाव को एक चरण में कराने की शुरू से वकालत कर रहे विपक्ष को सत्ता पक्ष पर हमला बोलने का उस वक्त मौका मिल गया, जब लातेहार के चंदवा में नक्सलियों ने पुलिस गाड़ी पर हमला कर दिया. 

झारखंड विधानसभा चुनाव: हेमंत सोरेन ने नक्सली हमला के बहाने BJP को घेरा
हेमंत सोरेन का बीजेपी पर हमला.

गढ़वा: झारखंड में चुनाव (Jharkhand Assembly Elections 2019) की तारीख जैसे-जैसे करीब आती जा रही है वैसे-वैसे राजनेताओं के बोल तल्ख होते जा रहे हैं. एक-दूसरे को आरोपित करते हुए राजनेता कुछ भी बोलने से परहेज नहीं कर रहे हैं. गढ़वा के रंका में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए हेमंत सोरेन (Hemant Soren) सत्ता पक्ष पर हमलावर हो गए. इस दौरान उनके तेवर तल्ख थे.

इस चुनाव को एक चरण में कराने की शुरू से वकालत कर रहे विपक्ष को सत्ता पक्ष पर हमला बोलने का उस वक्त मौका मिल गया, जब लातेहार के चंदवा में नक्सलियों ने पुलिस गाड़ी पर हमला कर दिया. इस हमले में चार जवान शहीद हो गए. उसी मामले को लेकर हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकार कहती है कि राज्य से नक्सली ख़त्म हो गए तो फिर यह हमला क्या था.

उन्होंने कहा कि पांच चरण में चुनाव कराने के पीछे झारखंड में नक्सलवाद का होना ही है. साथ ही साथ कहा कि सरकार नक्सलियों से लोहा लेने के लिए दक्ष जवानों को नहीं बल्कि, होमगार्ड को भेजती है. नतीजा हुआ कि वे मारे जाते हैं.

अमित शाह के झारखंड दौरे पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि देश के गृह मंत्री जब झारखंड आते हैं तो किसानों को फायदा दिए जाने की बात करते हैं, लेकिन आज भी जब किसानों के खेत बंजर पड़े हुए हैं तो आखिर वे करोड़ो रुपये कहां गए.

शुरू में हेमंत सोरेन द्वारा बीजेपी पर हमला बोला गया, लेकिन संबोधन के अंत में एनडीए गठबंधन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि झारखंड के बाहर एनडीए के घटक दल बीजेपी सहित सभी एक होते हैं, लेकिन यहां आते ही सभी बिखर जाते हैं. इसीलिए इनसे बचने की जरूरत है, क्योंकि ये राजनीतिक दल नहीं बल्कि लुटेरों का गिरोह है.

चुनाव में जनता को अपने पाले में करने की नीयत से राजनेताओं का एक-दूसरे को गलत ठहराना जारी है. ऐसे में जनता किसे अपना समझती है, यह देखने वाली बात होगी.