झारखंड: हेंमत सोरेन का शपथ ग्रहण, विपक्ष का 'शक्ति परीक्षण', 6 राज्यों के सीएम करेंगे शिरकत

झारखंड: हेंमत सोरेन का शपथ ग्रहण, विपक्ष का 'शक्ति परीक्षण', 6 राज्यों के सीएम करेंगे शिरकत

 रांची के मोहरबादी मैदान में हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह को लेकर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में 30 से अधिक नेताओं ने शामिल होने की सहमति दे दी है.

झारखंड: हेंमत सोरेन का शपथ ग्रहण, विपक्ष का 'शक्ति परीक्षण', 6 राज्यों के सीएम करेंगे शिरकत

रांची: झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में हेमंत सोरेन  आज (29 दिसंबर) दोपहर 2 बजे शपथ लेंगे. हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है. रांची के मोहरबादी मैदान में हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह को लेकर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में 30 से अधिक नेताओं ने शामिल होने की सहमति दे दी है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने शपथ ग्रहण कार्यक्रम में शामिल होने की सहमति दे दी है. उम्मीद जताई जा रही है कि हेमंत सोरेन के इस शपथ ग्रहण कार्यक्रम में एक मंच पर विपक्षी एकता भी देखने को मिल सकती है.

हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, एनसीपी नेता शरद पवार, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, यूपी के दो पूर्व सीएम अखिलेश यादव और मायावती, बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन सरीखे नेता हेमंत सोरेन के मंच पर मौजूद रहेंगे.

हेमंत सोरेन के राजतिलक के बहाने विपक्ष का महाजुटान होगा और देश में एक नई राजनीति की पटकथा को लेकर चर्चा होगी. हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह के बहाने राजनीति किस दिशा में जाएगी ये देखने वाली बात होगी.

वहीं, अगर हेमंत सोरेन के मंत्रीमंडल की बात की जाए तो माना जा रहा है कि झारखंड में कुल 12 विधायकों को मंत्री बनाया जा सकता है. सूत्रों का कहना है कि जेएमएम की ओर से जहां छह मंत्री होंगे. वहीं, कांग्रेस को चार से पांच मंत्री और एक विधानसभा अध्यक्ष का पद मिल सकता है. जेएमएम की ओर से अनुभवी स्टीफन मरांडी, चंपई सोरेन और बैद्यनाथ राम का नाम तय माना जा रहा है. 

स्टीफन और चंपई जहां पुराने नेता हैं. वहीं बैद्यनाथ एक मात्र अनुसूचित जाति (हरिजन) कोटे से आते है. ये तीनों पहले झारखंड के मंत्री रह भी चुके हैं. बैद्यनाथ स्वास्थ्य, शिक्षा, खेल, मद्य एवं निषेध मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं. पलामू प्रमंडल में इनकी अच्छी पकड है.

समारोह की तैयारी का जायजा लेने के लिए राज्य के मुख्य सचिव डीके तिवारी, डीजीपी कमल नयन चौबे, एसएसपी अनीश गुप्ता, उपायुक्त राय महिमापत रे मोराहाबादी मैदान पहुंचे.

मुख्य सचिव डीके तिवारी ने कहा कि तैयारी पूरी कर ली गई है और करीब दस हजार लोगों के बैठने के इंतजाम किया गया है. वहीं, झारखंड के डीजीपी कमलनयन चौबे ने कहा है कि तीन जगहों पर सुरक्षा के विशेष ध्यान दिए जाएंगे. जिसमें शपथ ग्रहण कार्यक्रम स्थल प्रमुख है. तो वहीं एयरपोर्ट और ठहरने की जगह पर भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम है. कई राज्यों के पर्सनल सिक्योरिटी के साथ सामंजस्य स्थापित किया गया है.

ट्रैफिक व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए भी बैठक की गई है. वीवीआईपी लोगों की लिस्ट आ गयी है और उनके सिक्योरिटी के कैटेगरी के अनुसार उन्हें सुरक्षा मुहैया की जाएगी.

Trending news