नड्डा का RJD पर हमला, कहा-नौकरी छीनने वाले लोग, आज रोजगार देने की बात कर रहे

उन्होंने कहा कि उजाले के महत्व का पता तब ही चलता है, जब अंधेरे का पता हो. मैं कहना चाहता हूं कि विकास का पता तब ही चलता है जब वह दिन याद हो. 

नड्डा का RJD पर हमला, कहा-नौकरी छीनने वाले लोग, आज रोजगार देने की बात कर रहे
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं जेपी नड्डा. (तस्वीर साभार-@JPNadda)

औरंगाबाद: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda) ने सोमवार को यहां राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के 10 लाख लोगों को रोजगार देने के वादे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सत्ता में रहने पर नौकरी छीनने वाले आज रोजगार देने की बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि उस दौर में नौकरी करने वाले नौकरी छोड़कर भाग गए थे.

औरंगाबाद में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने महागठबंधन (Mahagathbandhan) में आरजेडी के वामपंथी दलों के साथ गठबंधन को विध्वंसक बताते हुए कहा कि इन दोनों बिहार में अराजकता ही फैलाई है. 

उन्होंने कहा कि उजाले के महत्व का पता तब ही चलता है, जब अंधेरे का पता हो. मैं कहना चाहता हूं कि विकास का पता तब ही चलता है जब वह दिन याद हो. बीजेपी अध्यक्ष ने खुद को बिहार में रहने की बात कहते हुए कहा कि पहले क्या स्थिति थी बिजली की. बिजली आती नहीं थी कि चली जाती थी. मुश्किल से 24 घंटे में दो घंटे रहती थी. किसानों को डीजल पंप से सिंचाई करना पड़ता था. आज किसानों के लिए अलग फीडर लग रहा है.

नड्डा ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए कहा, पहले जब बिहार में कोई चुनावी सभा करता था तो जाति, धर्म की बात होती थी, समाज को बांटने की बात होती थी, लेकिन चुनाव में आज हमारे उम्मीदवार विकास की बात करते हैं, सरकार की उपलब्धियां बताते हैं, ये बदलाव आया है. जब नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आए हैं उन्होंने राजनीति का चाल, चरित्र बदल दिया है. इसे हमें याद रखना होगा.

नड्डा ने कोरोना काल की चर्चा करते हुए कहा कि पहले देश में एक भी पीपीई किट नहीं बनता था. लेकिन आज देश पीपीई किट दूसरे देशों को दे रहा है. आज देश में तीन लाख से ज्यादा वेंटिलेटर है. उन्होंने एनडीए के प्रत्याशी को वोट देने की अपील करते हुए कहा, आरजेडी का चरित्र अभी तक नहीं बदला है. मैं व्यक्तिगत रूप से बिहार की मिट्टी को पहचानता हूं और इसीलिए कह सकता हूं कि डबल इंजन की सरकार बिहार के लिए जरूरी है.

(इनपुट-आईएएनएस)