झारखंड महागठबंधन में फिर रार, बाबूलाल मरांडी बोले- गोड्डा सीट नहीं तो होगी अलग राह

जेवीएम प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि गोड्डा सीट पर पार्टी कोई समझौता नहीं करेगी.

झारखंड महागठबंधन में फिर रार, बाबूलाल मरांडी बोले- गोड्डा सीट नहीं तो होगी अलग राह
बाबूलाल मरांडी ने गोड्डा सीट पर दावा किया है.

रांचीः झारखंड महागठबंधन में एक बार फिर हड़कंप मच गया है. जहां एक ओर दिल्ली में हेमंत सोरेन ने राहुल गांधी से मुलाकात की, जिसके बाद कहा जा रहा था कि महागठबंधन में सीट शेयरिंग की बात साफ हो गई है. वहीं, अब जेवीएम पार्टी ने अपना स्टैंड साफ करते हुए कहा है कि गोड्डा सीट पर वह कोई समझौता नहीं करेगी. वहीं, बाबूलाल मरांडी ने कहा कि दिल्ली में क्या बात हुई है उन्हें कुछ नहीं पता है. ऐसे में यह भी कहा जा रहा है कि महागठबंधन में सीटों को लेकर अभी भी पेंच अटका हुआ है.

जेवीएम पार्टी ने गोड्डा सीट पर दावा ठोकते हुए कहा है कि उनकी उम्मीदवार ही गोड्डा में होगी नहीं तो पार्टी अलग विचार कर सकती है. जेवीएम प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने कहा कि दिल्ली में क्या बात हुई उन्हें कुछ नहीं पता है. लेकिन महागठबंधन में उम्मीदवारों और सीटों का चयन जीतने और जीताने वाले तरीके से होनी चाहिए.

मरांडी ने गोड्डा सीट पर दावा ठोकते हुए कहा है कि उनके उम्मीदवार प्रदीप यादव गोड्डा सीट के प्रबल दावेदार हैं. उन्होंने कहा कि चाहे तो इसके लिए सर्वे करा सकते हैं. उन्होंने कहा कि हमने पहले ही गोड्डा, चतरा और कोडरमा सीट की मांग की थी. जहां हमारी स्थिति मजबूत है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैं चुनाव नहीं लडूंगा कोडरमा सीट छोड़ने को तैयार हूं, लेकिन गोड्डा सीट पर जेवीएम ही उम्मीदवार उतारेगी.

आपको बता दें की सीटों का जो फॉर्मूला सामने आ रहा है उसमें गोड्डा सीट पर चुनाव कांग्रेस के चुनाव लड़ने की बात कही जा रही है. वहीं, चतरा सीट आरजेडी को दी जा रही है. लेकिन अब जेवीएम को इस फॉर्मूले पर एतराज है. और अपनी अलग राह की बात कह रही है.

आपको बता दें की सूत्रों के हवाले से खबर मिली थी कि दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद सीट शेयरिंग में कांग्रेस 7 सीट, जेएमएम 4 सीट, जेवीएम 2 सीट और आरजेडी 1 सीट का फॉर्मूला तैयार हुआ है. वहीं, इस फॉर्मूले पर एतराज जताते हुए लेफ्ट नेता भुवनेश्वर मेहता ने कहा कि हमने 5 सीट पर चुनाव लड़ने की बात कही थी. लेकिन अब बात कर तय करेंगे की कौन सीट पर चुनाव लड़ेगे या छोड़ेंगे. उन्होंने कहा हमने चतरा, हजारीबाग, गिरिडीह, गोड्डा और दुमका सीट पर दावेदारी की थी. हालांकि जो फॉमूला सामने आ रहा है उसमें लेफ्ट को कोई सीट नहीं मिलने की बात कही जा रही है.

बहरहाल सीट शेयरिंग को लेकर झारखंड महागठबंधन में फिर से पेंच फंस गया है. सीटों के बंटवारे में अब क्षेत्र को लेकर सर्वे कराने की बात कही जा रही है. ऐसे में महागठबंधन में फिर से घमासान मच गया है.