बिहार में एक मुर्गे के हत्यारे को ढूंढ रही पुलिस, जानिए आखिर क्या है मामला!

दुर्गावती थाना क्षेत्र के तिरोजपुर गांव की निवासी कमला देवी ने मुर्गा फार्म खोल रखा है. पड़ोसी ने दौड़ाकर मुर्गा को पकड़ लिया और उसे मार डाला. इसके बाद विवाद शुरू हुआ तो आरोपियों ने मुर्गा फार्म चलाने वाली कमला देवी और उसके पुत्र इंदल को पीटकर जख्मी कर दिया.

बिहार में एक मुर्गे के हत्यारे को ढूंढ रही पुलिस, जानिए आखिर क्या है मामला!
पुलिस भी मुर्गे के हत्यारे को ढूंढने में लगी हुई है.

कैमूर: बिहार में क्राइम का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. आए दिन मर्डर, चोरी, लूटपाट की खबरें आती रहती हैं और पुलिस अपराधियों को पकड़ने का दावा करती है लेकिन इन दिनों बिहार में पुलिस एक मुर्गे की हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुटी हुई है.  कैमूर जिले के दुर्गावती थाना के तिरोजपुर से पुलिस के पास एक ऐसा केस आया जिसे लेकर वह खुद हैरान है. मामला है एक मुर्गा की मौत का है. पुलिस फिलहाल मुर्गे के हत्यारे को ढूंढने में लगी हुई है. 

दरअसल दुर्गावती थाना क्षेत्र के तिरोजपुर गांव की निवासी कमला देवी ने मुर्गा फार्म खोल रखा है. पड़ोसी ने दौड़ाकर मुर्गा को पकड़ लिया और उसे मार डाला. इसके बाद विवाद शुरू हुआ तो आरोपियों ने मुर्गा फार्म चलाने वाली कमला देवी और उसके पुत्र इंदल को पीटकर जख्मी कर दिया.

मामला भले हीं चौंकाने वाला हो लेकिन कमला देवी पूरी घटना की लिखित एफआईआर दुर्गावती थाने में दर्ज कराई है. खास बात यह है कि मुर्गा का पोस्टमार्टम प्रखंड पशु अस्पताल दुर्गावती में किया गया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा कि मुर्गे की मौत कैसे हुई. 

वहीं, मुर्गे की मौत के मामले में सात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराया गया है. मुर्गे का पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक ने बताया पोस्टमार्टम में मुर्गा के गर्दन पर ब्लड रुकने का प्रमाण मिला है. इसकी रिपोर्ट पुलिस को सौंपी जाएगी.
वहीं, कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने इस घटना से जुड़ी प्राथमिकी दर्ज की गई है और पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.