पटना: अयोध्या के लिए रवाना हुए BJP नेता कामेश्वर चौपाल, 1989 में रखी थी मंदिर निर्माण की पहली ईंट

 9 नवंबर 1989 को कामेश्वर चौपाल ने राम मंदिर निर्माण के लिए हुए शिलान्यास कार्यक्रम में पहली ईट रखी थी और उस समय वह पूरे देश में चर्चा के केंद्र में आ गए थे. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट में बिहार से कामेश्वर चौपाल को भी शामिल किया गया है.   

पटना: अयोध्या के लिए रवाना हुए BJP नेता कामेश्वर चौपाल, 1989 में रखी थी मंदिर निर्माण की पहली ईंट
कामेश्वर चौपाल ने राम मंदिर निर्माण के लिए हुए शिलान्यास कार्यक्रम में पहली ईट रखी थी. (फाइल फोटो)

पटना: बीजेपी के नेता कामेश्वर चौपाल रविवार को पटना से अयोध्या के लिए रवाना हुए. 9 नवंबर 1989 को कामेश्वर चौपाल ने राम मंदिर निर्माण के लिए हुए शिलान्यास कार्यक्रम में पहली ईट रखी थी और उस समय वह पूरे देश में चर्चा के केंद्र में आ गए थे. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट में बिहार से कामेश्वर चौपाल को भी शामिल किया गया है. 

कामेश्वर चौपाल अयोध्या रवाना होने से पहले अपने उस भावपूर्ण स्थिति को याद किया और भगवान राम के मंदिर निर्माण को लेकर जो प्रण किया था अब वह पूरा हो रहा है इसको लेकर खुशी जाहिर की. इस मौके पर पटना के रामनवमी कमेटी के सदस्यों ने तिलक लगाकर अयोध्या रवाना होने से पहले कामेश्वर चौपाल का स्वागत किया. 

रामनवमी कमेटी के अध्यक्ष जगजीवन सिंह ने पगड़ी बांधकर उन्हें सम्मानित किया इस मौके पर पटना की मेहर सीता साहू ने तिलक लगाकर उनकी यात्रा शुभ हो इसकी कामना की बीजेपी के विधायक संजीव चौरसिया बीजेपी के विधायक अरुण कुमार सिन्हा और विधायक नितिन नवीन ने उन्हें अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया साथ ही साथ भारतीय संस्कृति और परंपरा के अनुसार उनके इस शुभ काम को लेकर उन्हें दही और मीठा खिलाकर अयोध्या के लिए रवाना किया. 

कामेश्वर चौपाल ने इस मौके पर कहा यह पूरे बिहार की भावना को लेकर अयोध्या रवाना हो रहे हैं और भव्य  मंदिर बने इसके लिए वे खासे उत्साहित हैं .इस शुभ घड़ी के लिए एक लंबा इंतजार करना पड़ा है और आज जब वह समय आ गया है तो उनके  संकल्प को मूर्त रूप में साकार होते देखना उन्हें सुखद और आह्लादित करने वाली अनुभूति दे रहा है. कामेश्वर चौपाल ने इस मौके पर भगवान राम की बिहार के साथ जुड़ाव को बताया और तमाम सारे लोगों का सहयोग और समर्थन को लेकर आभार जताया. 

सड़क मार्ग से कामेश्वर चौपाल अयोध्या के लिए रवाना हो गए और उन्होंने कहा जिस तरीके से भव्य श्री राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो रहा है यह पूरे विश्व में आकर्षण का केंद्र होगा और न सिर्फ अयोध्या बल्कि बिहार के भी अलग-अलग क्षेत्रों में जहां श्रीराम से जुड़े हुए कई प्रमाण और मंदिर हैं यहां भी पर्यटन का खासा विकास होगा और इससे बिहार में विकास की गति को भी तेजी मिलेगी.