close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: 12 साल बाद परिवार से मिली महिला, घरवालों के खुशी से छलक पड़े आंसू

कटिहार के एएसपी हरिमोहन शुक्ला ने बताया कि 15 सितम्बर को बलिया बेलौन थाना क्षेत्र के पंचगछि गांव में ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझकर महिला की बेरहमी से पिटाई कर दी थी.

बिहार: 12 साल बाद परिवार से मिली महिला, घरवालों के खुशी से छलक पड़े आंसू
कुछ दिन पहिले महिला को भीड़ ने बच्चा चोर समझकर पीटा था.

राजीव रंजन, कटिहार: 12 वर्ष पहले मानसिक रूप से बीमार महिला अपने परिवार से बिछड़ गई थी. परिवारवालों ने भी उसके मिलने की आस छोड़ दी थी. 10 साल पहले महिला का श्राद्ध कर्म भी करा दिया गया था, लेकिन जब कटिहार पुलिस (Katihar Police) ने नालंदा में रह रहे परिजनों को उनकी मां के मिलने की खुशखबरी दी तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. 

कटिहार के एएसपी हरिमोहन शुक्ला ने बताया कि 15 सितम्बर को बलिया बेलौन थाना क्षेत्र के पंचगछि गांव में ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझकर महिला की बेरहमी से पिटाई कर दी थी. सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने महिला को भीड़ के चंगुल से छुड़ाया. अस्पताल में भर्ती कराया गया.

लाइव टीवी देखें-:

उपचार होने के बाद महिला की काउंसलिंग कराई गई, जिसमें उन्होंने अपना पता बताया. इसके बाद कटिहार पुलिस ने नालंदा में रह रहे उनके परिवारवालों से संपर्क किया. वीडियो कॉलिंग के जरिए परिवारवालों की पहचान करवायी. पहचान हो जाने के बाद बेटे और बेटी को बुलाया गया और फिर उन्हें सौंप दिया. 

महिला की बेटी का कहना है कि उसकी मां 12 साल पहले बिछड़ गई थी. साल 2007 में उनका मानसिक बीमारी का इलाज चल रहा था. इसी दौरान वह बिछड़ी थी. काफी खोजबीन के बाद भी उनका पता नहीं चला था, तो बाद में उनका श्राद्ध कर्म कर दिया. फिलहाल अब दोनों अपनी मां से मिलकर बहुत खुश हैं. उन्होंने पुलिस को धन्यवाद दिया. साथ ही कहा कि वे लोग बलिया बेलौन पुलिस टीम की अच्छी पहल को पुरस्कृत करेंगे.

-- Meena Bisht, News Desk