रांची: खूंटी पुलिस ने 5 लाख के इनामी नक्सली को किया अरेस्ट, 28 से अधिक मामलों में था संलिप्त

 झारखंड में खूंटी पुलिस ने अड़की थाना क्षेत्र के रंगरोम जंगल से 5 लाख का इनामी नक्सली समेत सात भाकपा माओवादियों को गिरफ्तार किया है. 

 रांची: खूंटी पुलिस ने 5 लाख के इनामी नक्सली को किया अरेस्ट, 28 से अधिक मामलों में था संलिप्त
रंगरोम जंगल से 5 लाख का इनामी नक्सली समेत सात भाकपा माओवादियों को गिरफ्तार किया है.

मनोज सिंह, खूंटी: झारखंड (Jharkhand) में खूंटी पुलिस ने अड़की थाना क्षेत्र के रंगरोम जंगल से 5 लाख का इनामी नक्सली समेत सात भाकपा माओवादियों को गिरफ्तार किया है. सभी नक्सलियों की निशानदेही पर विभिन्न क्षेत्रों से भारी मात्रा में हथियारों का जखीरा भी बरामद किया गया है. खूंटी के एसपी आशुतोष शेखर ने घटना की पुष्टि की है. 

एसपी ने मीडिया से बातचीत में कहा है कि गिरफ्तार माओवादिओं में पांच लाख का इनामी नक्सली जीतराय मुंडा जो भाकपा माओवादी दक्षिणी छोटानागपुर जोनल कमिटी सदस्य के नाम शामिल है और अड़की निवासी है. 

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि भाकपा माओवादी के कुछ नक्सली अड़की थाना क्षेत्र में भ्रमण सील है. इस संबंध में विशेष टीम का गठन किया गया. इस दौरान घरों में रंगरोम जंगल से सभी नक्सलियों को पकड़ा गया. जिसमें एक व्यक्ति ने खुद को भाकपा माओवादी दक्षिणी छोटानागपुर क्षेत्र के जोनल कमांडर जीतराय मुंडा का नाम बताया. जीतराय पांच लाख का इनामी नक्सली है. इसके साथ ही गिरफ्तार नक्सलियों में पूछताछ करने के बाद नक्सलियों ने चाईबासा व खूंटी-तमाड़ सीमावर्ती क्षेत्रों में बड़ी मात्रा में हथियार होने की बात कही है. 

इसके बाद सरायकेला-चाईबासा और तमाड़ पुलिसबल, सीआरपीएफ एसआईआरबी के जवानों के साथ मिलकर ज्वाइंट ऑपरेशन करते हुए एक और नक्सली की गिरफ्तारी की गई. इस दौरान सरायकेला समेत अन्य क्षेत्रों से 76 आईईडी, अलग अलग हथियारों के 450 कारतूस समेत अन्य विस्फोटक हथियार रायफल बरामद किए गए हैं. 

जोनल कमांडर जीतराय की 28 कांडों में पहले से ही संलिप्तता की बात सामने आई है. पिछले वर्ष सरायकेला में पुलिस पार्टी को आईडी का निशाना बनाया गया था उस समय 36 पुलिसकर्मी जख्मी हुए थे. 

इस घटना में भी इस में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. इसके अलावा पिछले चुनाव के दौरान पुलिसकर्मियों और मतदाता कर्मियों को निशाना बनाने का प्रयास किया गया था, उस घटना पर भी नक्सलियों ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. हाल के दिनों में खूंटी के कई क्षेत्रों में हुई हत्याओं की बात भी उन्होंने स्वीकार की है.