close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

देश में कांग्रेस के हालत पर कौकब कादरी बोले- 'यह नेतृत्व विहीन होने का खामियाजा है'

 कर्नाटक और गोवा के सियासी संकट से सवाल उठ रहा है क्या राहुल गांधी या फिर कहें गांधी परिवार के नेतृत्व के बिना कांग्रेस बिखर जाएगा. 

देश में कांग्रेस के हालत पर कौकब कादरी बोले- 'यह नेतृत्व विहीन होने का खामियाजा है'
कौकब कादरी ने कांग्रेस के नेतृत्व को लेकर बयान दिया है. (फाइल फोटो)

पटनाः लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफा दे दिया. राहुल गांधी के इस्तीफा के बाद कांग्रेस का नेतृत्व कौन करेगा. कौन होगा पार्टी का नया अध्यक्ष. पार्टी में ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है अभी तक नया अध्यक्ष नहीं चुना गया है. लेकिन इसी बीच कर्नाटक और गोवा के सियासी संकट से सवाल उठ रहा है क्या राहुल गांधी या फिर कहें गांधी परिवार के नेतृत्व के बिना कांग्रेस बिखर जाएगा. 

राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस पार्टी लगातार दूसरी बार आम चुनाव हार गई. राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया. लेकिन राहुल गांधी के इस्तीफ़े के 44 दिन बाद ही कर्नाटक और गोवा संकट को कांग्रेसी संभाल नहीं पा रहे हैं. ऐसे में ये सवाल उठ रहा है कि क्या गांधी परिवार के बिना कांग्रेस बिखर गई है. 

बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी कहते हैं कि राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस में द्वंद है, बादल छाये हुए हैं. नेतृत्व नहीं होने के कारण ही कांग्रेस ख़ामियाजा भुगत रही है. साथ ही उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस में संकट का फ़ायदा बीजेपी को मिल रहा है और बीजेपी इस मौके का बखूवी फ़ायदा उठा रही है.

बीजेपी प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि कांग्रेस अपने कारनामों की वजह से हाशिये पर चली गई है. कांग्रेस ने राहुल गांधी का कद और पद दोनों बढ़ाया लेकिन पार्टी को कोई फ़ायदा नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस के नेताओं को लग रहा है कि कांग्रेस की स्थिति नहीं सुधर रही है इसलिए कांग्रेसी नया ठिकाना ढूंढ़ रहे हैं.

कर्नाटक और गोवा के सियासी संकट के बाद ये बात साफतौर पर दिखने लगी है कि कांग्रेस फिलहाल नेतृत्व विहीन हो गई है. कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं में द्वंद की स्थिति है. राहुल गांधी इस्तीफा वापस लेने से साफ इनकार कर दिया. पिछले दिनों बिहार में भी देखा गया कि बिहार के कई विधायक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिले. 

हालांकि उनलोगों ने मुलाकात को निजी बताया था. दबी जुबान से बिहार कांग्रेस के कई नेता सीएम नीतीश कुमार की तारीफ करते हैं. तो क्या सचमुच कांग्रेस बिखर जाएगा. क्या आनेवाले दिनों और दूसरे प्रदेश में कांग्रेस में बिखराव हो सकता है.