सरायकेला: 5 दिन से लापता मजदूर का सीमेंट कंपनी में मिला शव, हत्या की आशंका

सूत्रों के अनुसार, यह हत्या का मामला है. कंपनी ने 6 दिनों तक घटना छुपाई है. लेकिन मजदूरों के विरोध करने पर आनन-फानन में रात के समय लाइट काटने के बाद बॉडी को प्रशासन को सौंपा गया.

सरायकेला: 5 दिन से लापता मजदूर का सीमेंट कंपनी में मिला शव, हत्या की आशंका
5 दिन से लापता मजदूर का सीमेंट कंपनी में मिला शव. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पारस ठाकुर/सरायकेला: खरसावां के बुरूडीह स्थित श्री सीमेंट कंपनी के कैंपस में बुधवार की शाम एक मजदूर का सड़ा हुआ शव बरामद किया गया. मृतक मजदूर की पहचान हजारीबाग निवासी महेंद्र प्रजापति के रूप में की जा रही है. जिसकी पहचान कंपनी में लेबर सप्लायर सुपरवाइजर दशरथ साव द्वारा की गई है.

जानकारी के अनुसार, मृतक महेंद्र तकरीबन 5 दिनों से लापता था. जिसके बाद उसके परिजनों की शिकायत पर खरसावां थाना पुलिस बल द्वारा थाना प्रभारी प्रकाश रजक के नेतृत्व में कंपनी कैंपस में तलाशी ली गई थी. लेकिन बुधवार को कंपनी कैंपस में भारी बदबू की शिकायत के बाद खरसावां पुलिस द्वारा दोबारा तलाशी लिए जाने के क्रम में स्क्रैप से दबी हुई मजदूर की लाश बरामद की गई.

इसके बाद कंपनी एंबुलेंस से शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया. यहां एंबुलेंस के साथ दो वाहनों में आए लोग शव को रखकर भागते हुए नजर आए. इसी आनन-फानन में शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखने के बाद साथ आए लोग पोस्टमार्टम हाउस की चाबी भी लेकर चलते बने. लेकिन काफी खोजबीन के बाद सुपरवाइजर दशरथ द्वारा सदर अस्पताल को चाबी पहुंचाया गया.

सूत्रों के अनुसार, यह हत्या का मामला है. कंपनी ने 6 दिनों तक घटना छुपाई है. लेकिन मजदूरों के विरोध करने पर आनन-फानन में रात के समय लाइट काटने के बाद बॉडी को प्रशासन को सौंपा गया. इससे पहले भी कंपनी में मजदूरों को सीमेंट सामग्री के साथ पीसकर सीमेंट बनाने का मामला सामने आया था, जिसे कम्पनी प्रबंध के द्वारा मिलीभगत से दबा दिया गया. जानकारी के अनुसार, डीजल चोरी और वर्चस्व की लड़ाई को लेकर घटना को अंजाम दिया गया है. घटना 6 दिसंबर की बताई जा रही है.

ये भी पढ़ें-झारखंड में डायन बताकर महिला की हत्या, जांच में जुटी पुलिस