close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शिक्षा के बल पर ही ताकतवर होगा देश, भाषाओं का हो विकास : राज्यपाल

टंडन ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने भी मौलाना की काफी तारीफ की थी और उन्हें अपने जैसा ही शांतिप्रिय और भाईचारापसंद इंसान बताया था. 

शिक्षा के बल पर ही ताकतवर होगा देश, भाषाओं का हो विकास : राज्यपाल
राज्यपाल ने भाषाओं के विकास पर बल दिया. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने शनिवार को कहा कि देश शिक्षा के बल पर ही ताकतवर बनेगा. देश की मजबूती के लिए जरूरी है कि इंसान भाईचारा के साथ अमन और तरक्की के रास्ते पर चले. मौलाना मजहरुल हक अरबी-फारसी विश्वविद्यालय के चौथे दीक्षांत समारोह में प्रध्यापकों और छात्रों को संबोधित करते हुए कुलाधिपति टंडन ने कहा, "मौलाना मजहरुल हक ने तालीम को मुल्क की तरक्की का सबसे बड़ा जरिया बताते हुए स्वयं भी शिक्षण संस्थान खोले थे." 

उन्होंने कहा कि मौलाना हक की जयंती के अवसर पर आज उनके नाम पर स्थानीय विश्वविद्यालय में 'दीक्षांत समारोह' का आयोजन की जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है. राज्यपाल ने कहा कि सांप्रदायिक सद्भाव और सामाजिक समरसता के लिए मौलाना हक ने आजादी की लड़ाई के दौरान काफी उल्लेखनीय कार्य किए. 

टंडन ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने भी मौलाना की काफी तारीफ की थी और उन्हें अपने जैसा ही शांतिप्रिय और भाईचारापसंद इंसान बताया था. 

राज्यपाल ने बिहार की विरासत को गौरवशाली बताते हुए कहा कि बिहार सहित पूरे भारत में आज तेजी से तरक्की हो रही है. राज्यपाल ने बिहार सरकार भी प्रशंसा करते हुए कहा कि सरकार ने मौलाना मजहरुल हक अरबी-फारसी विश्वविद्यालय के नए स्वतंत्र भवन के लिए पर्याप्त भूमि उपलब्ध करा दी है. उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि जल्द ही इस विश्वविद्यालय का अपना भवन बन जाएगा. 

कुलाधिपति ने अरबी, फारसी, संस्कृत, पाली जैसी भाषाओं को संरक्षण देने पर बल देते हुए कहा कि इन भाषाओं के विकास के प्रयास होने चाहिए. 

कार्यक्रम में राज्य के शिक्षामंत्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा ने कहा कि पूरी सरकार और मुख्यमंत्री भी इस विश्वविद्यालय की तरक्की के लिए हरसंभव मदद करने के लिए दृढ़प्रतिज्ञ हैं. उन्होंने विश्वविद्यालय की बेहतरी के लिए हरसंभव सहयोग का भरोसा दिलाया. 

समारोह में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो़ खालिद मिर्जा ने विश्वविद्यालय की गतिविधियों का विस्तृत ब्योरा दिया.