close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लालू ने 'सृजन' को बताया महाघोटाला; कहा- नीतीश को देना होगा पाई पाई का हिसाब

तेजस्वी यादव ने नीतीश पर नैतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह होने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे विकास पुरुष नामक फर्ज़ी चादर ओढ़े हुए हैं.

लालू ने 'सृजन' को बताया महाघोटाला; कहा- नीतीश को देना होगा पाई पाई का हिसाब
सृजन घोटाले के खिलाफ भागलपुर में आयोजित रैली में लालू प्रसाद और तेजस्वी को माला पहनाते समर्थक. (PTI/10 Sep, 2017)

भागलपुर: राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने भागलपुर में स्वयंसेवी संस्था सृजन महिला विकास सहयोग समिति द्वारा सरकारी राशि के करोड़ों रुपये के गबन को 'महाघोटाला' की संज्ञा देते हुए मांग की है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को गबन की गयी इस सरकारी राशि के पाई-पाई का हिसाब देना होगा. सैंडिस कम्पाउंड में 'सृजन के दुर्जनों के विर्सजन' के लिए आयोजित राजद की रैली को संबोधित करते हुए लालू ने सृजन घोटाले को 'महाघोटाला' की संज्ञा देते हुए रविवार (10 सितंबर) को मांग की कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को गबन की गयी इस सरकारी राशि के पाई-पाई का हिसाब देना होगा.

इस मामले की जांच कर रही सीबीआई से किसी के दवाब में नहीं आने की सलाह देते हुए लालू ने पूछा कि इस संबंध में नीतीश कुमार, सुशील मोदी और अश्वनी चौबे के खिलाफ अब तक प्राथमिकी दर्ज क्यों नहीं हुआ है. उन्होंने नीतीश पर सत्ता का 'लालची' होने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘वे (नीतीश) गद्दी पर ही मरना चाहते हैं. मैंने नीतीश को छोटा भाई मानकर तिलक लगाया था.’’ लालू ने कहा, ‘‘अगर मैं नहीं होता तो नरेन्द्र मोदी और अमित शाह नीतीश को चबाकर पान की तरह थूक देते.’’ उन्होंने कहा कि अपनी बीमारी के बावजूद पिछले बिहार विधानसभा चुनाव में पूरे प्रदेश घूमघूमकर चुनावी सभा की और महागठबंधन को विजयी बनाया.

लालू ने कहा कि उन्होंने महागठबंधन धर्म का पालन किया. अधिक सीटें हासिल करने के बाद भी नीतीश को तिलक :मुख्यमंत्री: लगाया. उन्होंने नीतीश के महाठबंधन से नाता तोड़कर भाजपा के साथ मिलकर प्रदेश की नई सरकार बनाने लेने की ओर इशारा करते हुए नीतीश को 'पलटू राम' की संज्ञा दी और आरोप लगाया कि तेजस्वी के कामकाज से नीतीश का माथा ठनकने लगा. राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कहा कि सृजन मामूली घोटाला नहीं ‘महाघोटाला’ है. मीडिया नहीं होता तो सृजन घोटाला दबा दिया जाता. उन्होंने इस घोटाले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर प्रहार जारी रखते हुए पूछा, ‘‘नीतीश भागलपुर में किस मिश्रा के घर ठहरा करते थे. ये कौन है मिश्रा, बताएं नीतीश कुमार, क्या है संबंध.’’ लालू ने आरोप लगाया कि सृजन घोटाले की जानकारी पूर्व से उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को थी.

उन्होंने कहा कि सीबीआई को पटना में जालान ज्वेलर्स के यहां जाना चाहिए था जहां से विशेष सुराग मिल सकता है. 2010 में पटना में आयोजित भाजपा की राष्ट्रीय बैठक के दौरान नीतीश द्वारा दावत देकर उसे रद्द कर दिए जाने की ओर इशारा करते हुए लालू ने कहा, ‘‘भाजपा वाले को शर्म नहीं आती क्या? भाजपा के आगे से नीतीश ने थाली खींच ली थी.’’ लालू ने आरोप लगाया कि इस रैली को भी बाधित करने का प्रयास किया गया. सीबीआई को इस्तेमाल किया गया और समन भिजवाकर दिल्ली बुलाया गया.

करोड़ो रुपये के चारा घोटाला मामले में अपनी लगातार पेशी की ओर इशारा करते हुए लालू ने कहा, ‘‘पिछले 20 सालों से वे मुकदमे का सामने करते आ रहे हैं और इसकी अब उन्हें आदत हो गयी है. हमें नहीं हरा पाने पर मेरे बेटे को निशाना बनाया.’’ उन्होंने कहा कि सृजन के खिलाफ हर जिले में राजद द्वारा आगामी 12 सितंबर को धरना दिया जाएगा. रैली को संबोधित करते हुए बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार ही सृजन घोटाले के असली 'सृजनकार' और घोटालेबाजों के 'सृजनहार' हैं.

होटल के बदले भूखंड मामले में सीबीआई द्वारा प्राथमिकी दर्ज किए जाने पर महागठबंधन सरकार (जदयू-राजद-कांग्रेस) में उपमुख्यमंत्री पद पर आसीन रहे तेजस्वी यादव के जनता के बीच जाकर स्पष्टीकरण नहीं दिए जाने पर महागठबंधन से नाता तोड़कर नीतीश कुमार के भाजपा के साथ मिलकर बिहार में राजग की नई सरकार बना ली थी. तेजस्वी ने आरोप लगाया कि नीतीश सिर से लेकर पैर तक सृजन घोटाले में धँसे हुए है. इसलिए गिड़गिड़ा कर नरेंद्र मोदी जी के सामने पलटी मार जनादेश का अपमान कर अनैतिक सरकार बना ली.

उन्होंने नीतीश पर नैतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह होने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे विकास पुरुष नामक फर्ज़ी चादर ओढ़े हुए हैं. तेजस्वी ने नीतीश और सुशील दोनों के संरक्षण में सृजन घोटाला किए जाने का आरोप लगाते हुए पूछा कि सीबीआई ने अब तक प्राथमिकी दर्ज क्यों नहीं की? रैली को लालू के बडे पुत्र तेजप्रताप यादव ने भी संबोधित करते हुए नीतीश और भाजपा पर प्रहार किया.