close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले लालू यादव ने किया महात्मा गांधी को याद

लालू प्रसाद चारा घोटाले के मामलों में सजा पाने के बाद रांची की एक जेल में बंद हैं. स्वास्थ्य कारणों से वे फिलहाल रांची की एक अस्पताल में भर्ती हैं.

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले लालू यादव ने किया महात्मा गांधी को याद
लालू यादव ने ट्वीट कर कही ये बात. (फाइल फोटो)

पटना: अयोध्या में रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद (Ayodhya Case) को लेकर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि ये गांधी का देश है, यहां एकता का परिवेश है. 

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शनिवार को ट्वीट किया गया, "मानवता और संविधान भी हमारा धर्म है. हमें एकता, भाईचारे और प्रेम के साथ अपना हर धर्म निभाना है. जो भी फैसला हो उसका आदर करते हुए हर हिंदुस्तानी का फैसला शांति, एकता व अहिंसा के मार्ग पर चलने का ही होगा. आओ मिलकर दुनिया को दिखा दें 'ये गांधी का देश है, यहां एकता का परिवेश है."

उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद चारा घोटाले के मामलों में सजा पाने के बाद रांची की एक जेल में बंद हैं. स्वास्थ्य कारणों से वे फिलहाल रांची की एक अस्पताल में भर्ती हैं. 

इधर, बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी अयोध्या के फैसले पर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. 

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "मैं सभी बिहारवासियों से कर जोड़ प्रार्थना करता हूं कि सर्वोच्च न्यायालय का जो भी फैसला आए हम उसे स्वीकार करें और किसी भी कीमत पर सामाजिक सौहार्द को बिखरने ना दें." 

उन्होंने आगे लिखा, "मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे में विद्यमान ईश्वर भी अपने श्रद्घालुओं के बीच फासला नहीं देखना चाहेंगे."