close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुमला: पैत्रिक गांव में हुआ शहीद संतोष का अंतिम संस्कार, लगे 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' के नारे

शहीद संतोष गोप के अंतिम संस्कार में सांसद सुदर्शन भगत, स्पीकर दिनेश उरांव, जिला के उपायुक्त शशिरंजन, एसपी अंजनी झा और आर्मी के जवान शामिल हुए. 

गुमला: पैत्रिक गांव में हुआ शहीद संतोष का अंतिम संस्कार, लगे 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' के नारे
गुमला में शहीद का अंतिम संस्कार.

गुमला: जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान के द्वारा सीजफायर उल्लंघन के दौरान शहीद हुए गुमला जिला के बसिया प्रखंड के टेगरिया गांव निवासी संतोष गोप मंगलवार को उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया. सुबह उनका पार्थिव शरीर रांची से गुमला लाया गया. यहां उन्हें नमन करने के लिए उनके घर पर सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. 'भारत माता की जय' के नारों से पूरा गांव गूंज उठा. इस दौरान 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' का नारे भी गूंजते रहे.

शहीद संतोष गोप के अंतिम संस्कार में सांसद सुदर्शन भगत, स्पीकर दिनेश उरांव, जिला के उपायुक्त शशिरंजन, एसपी अंजनी झा और आर्मी के जवान शामिल हुए. अंतिम विदाई तोपों कि शालामी देकर दी गई.

बताते चलें कि जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी सेना की तरफ से शनिवार को सीजफायर का उल्लंघन किया गया, जिसमें में झारखंड के गुमला के लाल संतोष गोप शहीद हो गए थे. सोमवार को शहीद का पार्थिव शरीर रांची एयरपोर्ट पर उतरने के बाद राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. दिनेश उरांव, सांसद सुदर्शन भगत समेत लोगों ने श्रद्धांजलि दी.

वहीं, ग्रामीणों का आरोप है कि जिस तरह बिजय सोरोन शाहीद हुए थे, उस समय जिला प्रसाशन सभी तरह की सुविधा मुहैया कराये थे. उसका एक प्रतिशत भी संतोष गोप पर नहीं किया गया.

अंतिम विदाई कि लिए आर्मी के कमांडेंट भी टेंगरा गांव पहुंचे. उन्होंने बताया कि हम संतोष के बदले कई पाकिस्तानी को मार गिराएंगे. इसका बदला एक की जगह 100 में लिया जाएगा. संतोष की शहादत बेकार नहीं जाएगी.