close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गया किशोरी हत्याकांडः पूरे मामले की जानकारी लेने पहुंचे लॉ एंड ऑर्डर एडीजे आलोक राज

गया में किशोरी की हत्या के मामले में जानकारी लेने के लिए लॉ एंड ऑर्डर एडीजे आलोक राज रविवार को गया पहुंचे.

गया किशोरी हत्याकांडः पूरे मामले की जानकारी लेने पहुंचे लॉ एंड ऑर्डर एडीजे आलोक राज
एडीजे आलोक राज गया में किशोरी की हत्या के मामले में जानकारी लेने पहुंचे.

गयाः बिहार के गया जिले में किशोरी की हत्या का मामला सुलझ नहीं रहा है. यहां पुलिस और पटवा समाज के अपने अपने दावों के बीच हत्या की मिस्ट्री उलझ चुकी है. वहीं, पूरे मामले की जांच करने लॉ एंड ऑर्डर एडीजे आलोक राज रविवार को गया पहुंचे. साथ ही पटवा समाज के अध्यक्ष प्रेम नारायण ने एडीजे आलोक राज से मुलाकात की और अपने बिंदुओं को रखा.

लॉ एंड ऑर्डर एडीजे आलोक राज ने बताया कि मामले की पूरी जांच वैज्ञानिक अनुसंधान की जा रही है. इसके लिए एफएसएल टीम और सीआईडी टीम को बुलाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बहुत की दुःखद घटना है, लेकिन ये आश्वस्त करना चाहता हूं कि घटना की सभी बिंदुओं पर जांच की जाएगी. 

उन्होंने कहा कि अनुसंधान में सभी बिंदुओं को देखा जाएगा और वैज्ञानिक तरीके से पूरे मामले की जांच की जाएगी, जो जिला पुलिस को सहयोग करेगी. गया पुलिस की शुरुआती जांच में यह खुलासा किया गया था कि मामला ऑनर किलिंग का है. जिसपर आलोक राज ने कहा कि अभी अनुसंधान के दशा और दिशा पर कोई कमेंट नही करूंगा.

अभी अनुसंधान प्रारंभिक स्तर में है पूरा अनुसंधान होने के बाद ही यह साफ हो पाएगा की हत्या किसने की और किस परिस्थिति में की गई. कांड का अनुसंधान पूरी तरह वैज्ञानिक तरीके से की जाएगी. पूरा निष्पक्ष अनुसंधान होगा. मृतक के पिता को जेल भेजे जाने पर कहा कि जो अब तक साक्ष्य मिले हैं और न्यायालय में भी बयान दर्ज हुई है. उसके आधार पर कारवाई हुई चुकी अनुसंधान अभी ओपन है जो भी सामने आएगा कारवाई की जाएगी. 

उन्होंने कहा कि ऑनर किलिंग है या नहीं इस अभी अनुसंधान खत्म नहीं हुई है. मैं अभी इस पर कोई टिप्पणी नही करूंगा.

ज्ञात हो पटवाटोली से 28 दिसम्बर को नाबिग लड़की कुछ सामान खरीदने घर से बाहर निकली थी उसके बाद 6 जनवरी को उसकी सर कटी लाश बरामद किया गया था. वहीं, पुलिस ने इस मामले में पिता और उनके दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी. लेकिन इस दौरान नया मोड़ तब आया जब मृतका की बहन ने पुलिस पर आरोप लगाया की पुलिस दवाब में डालकर उनसे बयान ले रही है.