बिहार:वाटर प्यूरिफायर की आड़ में हो रही थी शराब तस्करी, बरामद हुई लाखों की शराब

तमाम सख्ती के बावजूद शराब की बड़ी खेप बिहार में पहुंचाई और खपाई जा रही है. कहने को पुलिस पूरी तरह से चुस्त है 

बिहार:वाटर प्यूरिफायर की आड़ में हो रही थी शराब तस्करी, बरामद हुई लाखों की शराब
तमाम सख्ती के बावजूद शराब की बड़ी खेप बिहार में पहुंचाई और खपाई जा रही है. (फाइल फोटो)

छपरा: बिहार में पूर्ण शराबबंदी है, लेकिन आए दिन शराब तस्करी के मामले सामने आते रहते हैं. तमाम सख्ती के बावजूद शराब की बड़ी खेप बिहार में पहुंचाई और खपाई जा रही है. कहने को पुलिस पूरी तरह से चुस्त है लेकिन शराब माफिया पुलिस की चुस्ती पर तस्करी का चांटा लगा रहे हैं. 

शराबबंदी के बावजूद शराब की डिमांड को पूरा करने में जुटे शराब माफिया के खेल का एक और मामला छपरा से आया है. यहां शराब माफिया ने पुलिस और लोगों की आंखों में धूल झोंकने के लिए जो तरीका अपनाया वो थोड़ा हैरान करने वाला भी है. 

छपरा के इसुआपुर में आर.ओ वाटर यानी वाटर प्यूरिफायर कंपनी के प्रचार की गाड़ी पहुंची थी. इसी दौरान वहां से थाना प्रभारी को गुजरते देख आर.ओ वाटर वैन का ड्राइवर गाड़ी को तेजी से भगाने लगा. 

जब पुलिस को शक हुआ तो उसका पीछा किया गया. पुलिस को पीछे आता देख गाड़ी के ड्राइवर ने खेतों में अपनी गाड़ी दौड़ा दी. लेकिन पुलिस ने कुछ देर बाद गाड़ी और ड्राइवर को पकड़ लिया. 

जब गाड़ी की तलाशी ली गई तो उसमें बने तहखाने में लाखों रुपए की करीब 30 कार्टन में रखी शराब जब्त की गई.इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.