Bihar Jan Samwad: अमित शाह बोले- नीतीश कुमार के नेतृत्व में जीतेगी NDA, अभी राजनीति नहीं कोरोना से लड़ने का समय

देश के गृह मंत्री और बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कुछ ही देर में बिहार के लोगों से मुखातिब होंगे. इसी के साथ बीजेपी बिहार विधानसभा चुनाव का राज्य में शंखनाद करेगी.

अंतिम अपडेट: रविवार जून 7, 2020 - 05:39 PM IST
अमित शाह रैली को संबोधित कर रहे हैं.

पटना: देश के गृह मंत्री और बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह  बिहार के लोगों से मुखातिब हो रहे हैं. इसी के साथ बीजेपी बिहार विधानसभा चुनाव का राज्य में शंखनाद करेगी. इसे बीजेपी के चुनावी कैंपेन के रूप में भी देखा जा रहा है. इस वर्चुअल रैली में अमित शाह बिहार के लोगों को मोदी सरकार 2.0 और बिहार सरकार के काम काज का हिसाब भी दे सकते हैं. रैली के लिए दिल्ली स्थित पार्टी कार्यालय के भीतर बड़े हॉल में एक वर्चुअल स्टेज बनाया गया है.  दिल्ली में बने मंच पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के अलावा बिहार के प्रभारी भूपेंद्र यादव और बिहार से कई केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे. मंच का संचालन दिल्ली में बीजेपी महासचिव भूपेंद्र यादव करेंगे, जबकि पटना में यही कार्य बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल करेंगे.

 

 

7 जून 2020, 17:40 बजे

गृह मंत्री अमित शाह ने संबोधन में बिहार चुनाव का जिक्र करते हुए कहा है कि आने वाले समय में बिहार में चुनाव है. हमारा यकीन है कि नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में दो तिहाई बहुमत से एनडीए जीत दर्ज करेगी. लेकिन ये समय राजनीति का नहीं कोरोना से लड़ने का है इसलिए हमें एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़नी है.

7 जून 2020, 17:39 बजे

मोदी जी ने 2015 बिहार के विकास के लिए 1 लाख 25 हजार करोड़ का पैकेज दिया था तब विपक्ष ने मजाक उड़ाता था. एक लाख 25 हजार करोड़ का आज मैं हिसाब लेकर आया हूं. महामार्ग बनाने में 56 हजार करोड़ , ग्रामीण सड़क के 14 हजार करोड़, रेलवे के 9 हजार करोड़, हवाई अड्डों के सुधार के लिए 2700 करोड़, पर्यटन के लिए 600 करोड़, कौशल विकास के लिए 1525 करोड़, पेट्रोलियम और गैस के लिए 21 हजार करोड़, बिजली के लिए 1 हजार करोड़, शिक्षा के लिए एक हजार करोड़, स्वास्थ्य के लिए 600 करोड़, डिजिटल बिहार के लिए 450 करोड़ का खर्च हम समाप्त कर चुके हैं और काम जमीन पर दिख रहा है. 

 

7 जून 2020, 17:22 बजे

अमित शाह ने कहा है कि बीजेपी की शक्ति संगठन है. मैं बीजेपी के सभी कार्यकर्ताओं से कहना चाहता हूं कि ये मोदी जी का आहृवान है कि जब तक कोरोना के खिलाफ लड़ाई चल रही है तब तक 'सेवा ही हमारा संगठन' है, इस मंत्र के साथ हर जरूरतमंद की सेवा करें, जागरूक करें.

7 जून 2020, 17:21 बजे

गृह मंत्री ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार में हम लालटेन युग से एलईडी युग तक आए हैं. लूट एंड ऑर्डर से लॉ एंड ऑर्डर तक की यात्रा हमने की है. जंगल राज से जनता राज तक हम आए हैं. बाहुबल से विकास बल तक आए हैं और चारा घोटाले से डीबीटी तक की यात्रा मोदी जी के नेतृत्व में सफलतापूर्वक तय की है. साथ ही उन्होंने कहा कि मैं परिवारवादी लोगों को आज कहता हूं कि अपना चेहरा आईना मैं देख लीजिए, 1990-2005 इनके शासन में बिहार की विकास दर 3.19 प्रतिशत थी, आज नीतीश जी के नेतृत्व में ये 11.3 प्रतिशत तक विकास दर पहुंचाने का काम एनडीए की सरकार ने किया है.

7 जून 2020, 17:11 बजे

अमित साह ने एक देश-एक राशन कार्ड का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, 'नरेन्द्र मोदी जी ने अभी-अभी गत कैबिनेट में निर्णय लिया की 'एक देश-एक राशन कार्ड'. बिहार, उत्तर प्रदेश, ओडिशा के मजदूर देश के कई हिस्सों में काम करते हैं. इससे अब श्रमिक भाई-बहन अपने हिस्से का राशन, देश में कहीं पर भी हों वहां से ले सकेंगे. करीब 1.25 करोड़ प्रवासी मजदूरों को हजारों ट्रेनों के माध्यम से उनके घरों तक पहुंचाया. उनके लिए भोजन की व्यवस्था की गई, पीने के पानी की व्यवस्था की गई. उनके गृह राज्यों में क्वारंटाइन की व्यवस्था की गई.'

 

7 जून 2020, 17:06 बजे

अमित शाह ने नीतीश कुमार जिक्र करते हुए कहा है कि नितीश जी और सुशील जी दोनों प्रसिद्धि करने में थोड़े से कच्चे हैं. वो रोड पर खड़े होकर थाली नहीं बजाते हैं, वो चुपचाप सहायता के लिए काम करने वाले लोग हैं. नीतीश जी और सुशील जी के नेतृत्व में बिहार सरकार ने बहुत अच्छे से ये लड़ाई लड़ी है.

7 जून 2020, 16:54 बजे

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि जो भी विकसित राज्य हैं उन सभी की नींव में बिहार के मजदूर का पसीना पड़ा है. साथ ही विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं विपक्ष को पूछना चाहता हूं कि आपने क्या किया? आप थे कहां? हमने लोगों ट्रेन से पहुंचाया, खाना दिया, क्वारंटाइन सेंटर तक पहुंचाया वहां सुविधाएं दी गईं

 

7 जून 2020, 16:48 बजे

अमित शाह ने कहा कि देश की 130 करोड़ जनता चट्टान के साथ पीएम मोदी के साथ खड़ी है. मोदी जी प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित रखने के लिए काफी काम किया है. सभी राज्य के सीएम से बात की और भारत सरकार के खजाने से 11 हजार करोड़ रूपया दिया गया. एक मई से जब पूरे व्यवस्था चाक चौबंद हो गई तो प्रवासी श्रमिकों के लिए ट्रेन की शुरुआत की गई. सवा करोड़ लोगों को सुरक्षित पहुंचाया. रेलवे का 50 फीसदी खर्चा केंद्र ने उठाया है. 

7 जून 2020, 16:41 बजे

बिहार जनसंवाद रैली में संबोधन के दौरान अमित शाह ने अनुच्छेद 370 और राम मंदिर की भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि कई ऐसे मुद्दे थे जिन्हें पिछले 70 सालों से किसी से छूने की हिम्मत भी वोट की वजह से नहीं की. लेकिन 5 अगस्त को मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 और 35ए हटाकर कश्मीर को भारत का हिस्सा बना दिया. साथ ही उन्होंने राम मंदिर के बारे में कहा कि राम मंदिर का फैसला सालों से नहीं सुलझ पाया था लेकिन इतने सालों बाद उच्चतम न्यायालय का फैसला आया और मोदी सरकार ने ट्रस्ट बनाकर राम मंदिर का मार्ग प्रशस्त किया.

7 जून 2020, 16:37 बजे

अमित शाह ने बिहार के विपक्ष पर भी निशाना साधा और कहा कि आजादी के 60 सालों के बाद भी लोगों के घरों में बिजली नहीं थी. उन्हें लालटेन जलाना पड़ता था. लेकिन अब लालटेन का जमाना जा चुका है और एलईडी बल्ब का जमाना आ गया है. 

7 जून 2020, 16:34 बजे

अमित शाह ने कोरोनावायरस का जिक्र अपने संबोधन में किया. उन्होंने कहा कि जो लोग कोरोना से लड़ रहे हैं और कोरोना से लड़ रहे हैं उनके अच्छे स्वास्थ्य की मैं कामना करता हूं. साथ ही अमित शाह ने कोरोना से मृत लोगों की आत्मा की शांति की प्रार्थना की. अमित शाह ने कहा कि बिहार की धरती ने ही पहली बार दुनिया को लोकतंत्र का अनुभव कराया. बिहार में महान मगध साम्राज्य की नींव डाली गई. इस भूमि ने हमेशा भारत का नेतृत्व किया है.

 

7 जून 2020, 16:26 बजे

अमित शाह ने नरेंद्र मोदी और एनडीए सरकार को 2015 और 2019 में चुनने के लिए राज्य की लोगों को धन्यवाद दिया है. उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि जिन्हें लग रहा है कि ये बिहार चुनाव को लेकर रैली कर रहे हैं तो वो गलत सोच रहे हैं. ऐसे वक्रदृष्टा लोग ये विचार मन से निकाल दें.