close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारी बारिश से मुसीबत में पटना, गांधी मैदान सहित VIP इलाकों में भरा पानी

 दानापुर- खगौल रेलवे स्टेशन के पास यात्री से भरे ऑटो पर विशाल पेड़ गिरने से 4 लोगों की मौके पर मौत हो गई, इस दुर्घटना में दो यात्री घायल हुए हैं. पुलिस मौके पर पहुंच चुकी है.

अंतिम अपडेट: रविवार सितम्बर 29, 2019 - 07:35 PM IST
राज्य में अभी तक 14 लोगों के मारे जाने की खबर है.

पटनाः बिहार में बारिश और बाढ़ का कहर जारी है. बिहार के 15 जिलों में रेड अलर्ट है, कई जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. बिहार में बारिश और बाढ़ के चलते 13 ट्रेनें लेट हैं 23 का रूट बदल दिया गया है.  राज्य में अभी तक 14 लोगों के मारे जाने की खबर है. हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. दानापुर- खगौल रेलवे स्टेशन के पास यात्री से भरे ऑटो पर विशाल पेड़ गिरने से 4 लोगों की मौके पर मौत हो गई, इस दुर्घटना में दो यात्री घायल हुए हैं. पुलिस मौके पर पहुंच चुकी है.

29 सितम्बर 2019, 19:36 बजे

भारी बारिश से पटना जलमग्न हो गई है और कई ट्रेनें रद्द होने के बाद अब फ्लाइट पर भी इसका असर दिख रहा है. भारी बारिश की वजह से गो-एयर की G8-585 मुंबई से पटना आने वाली फ्लाइट को लखनऊ डायवर्ट कर दिया गया है. स्पाइस जेट की फ्लाइट SG-8480 दिल्ली-पटना फ्लाइट को वाराणसी डायवर्ट किया गया है. बाकी सभी फ्लाइट फिलहाल अपने समय पर चल रही हैं. हालांकि सभी यात्रियों को अपडेट लेने की सलाह दी गई है. 

29 सितम्बर 2019, 19:32 बजे

पटना: भारी बारिश से पटना जलमग्न हो गई है और प्रलय जैसी स्थिति को देखते हुए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है. राजेंद्र नगर इलाके के लिए 947319129 या 9006192686 नंबर जारी किया गया है. वहीं, एसडीआरएफ अधिकारी से संपर्क के लिए 9110099313, कदमकुआं में रहने वाले लोगों के लिए 8210286544 या 9431295882, एसडीआरएफ अधिकारी के लिए 9801598289, कंकड़बाग कॉलोनी के लिए 6203674823, एनडीआरएफ अधिकारी के लिए 8541908006, पटना सिटी में रहने वाले लोग 7903331869 या 8340582547 नंबर पर मदद के लिए संपर्क कर सकते हैं. 

29 सितम्बर 2019, 19:25 बजे

सासाराम में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. कई इलाकों में घरों में पानी प्रवेश कर गया है. जिससे लोगों का जीना मुहाल हो गया हैं. लोग किसी तरह खुद को तथा अपने सामान को बचा रहे हैं. लोगों का कहना है कि पिछले तीन दिनों से स्थिति बिगड़ती जा रही है. वहीं बीते रात हुए पानी ने सबकुछ तहस-नहस कर दिया. बच्चे विद्यालय नहीं जा रहे हैं, महिलाएं घर में खाना नहीं बना पा रहे हैं. सारा काम ठप है. घर की बर्तन पानी में तैर रहे हैं. 

 

29 सितम्बर 2019, 19:22 बजे

नवादा के रजौली में नदी में अचानक बाढ़ आ जाने से 5 लोग बाह गए. जिसमें 2 लोग (पति-पत्नी) ने किसी तरह बड़ी मुश्किल से जान बचाई. घटना रजौली प्रखंड के सुबेरलेटी गांव की है. घटना तब हुई जब गांव के कुछ लोग खेती कर रहे थे. सभी लोग चचरी पर बैठकर पानी घटने का इंतजार कर रहे थे. तभी नदी में अचानक जल वृद्धि हो जाने से चचरी सहित पांच लोग बह गए. जिसमें से तीन लोगों का अभी तक पता नहीं चल सका है. 

29 सितम्बर 2019, 19:20 बजे

बिहार के गया में चार दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश से जिले के कई इलाकों में नदियां उफान पर है. इससे ग्रामीण क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति हो गई है और गांव मे रहने वाले ग्रामीणों में दहशत छाया हुआ है. वहीं, फल्गु नदी का भी जलस्तर बढ़ने से फल्गु नदी के किनारे स्थित कई गांवों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न होने का असर है. वहीं, जिले के इमामगंज डुमरिया प्रखंड में नदियों का पानी गांव मे प्रवेश कर गया है और कई गांव जलमग्न हो गए हैं.

29 सितम्बर 2019, 19:19 बजे

बक्सर: बिहार के बक्सर जिले में पिछले 2 दिनों से हो रही लगातार बारिश ने शहर की सूरत बिगाड़ कर रख दी है. पॉश इलाकों में जलजमाव की स्थिति है और घरों में भी पानी ने अपना डेरा डाल लिया है. ऐसे में आम लोगों की मुश्किलें काफी बढ़ गई है. लगातार बारिश और जलजमाव की स्थिति से लोगों का हाल बेहाल है. बक्सर गंगा नदी के किनारे बसा है. पिछले दिनों गंगा में जल स्तर बढ़ने के कारण बाढ़ का खतरा मंडराने लगा था लेकिन फरक्का बराज खोले जाने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली थी. एक बार फिर लगातार हो रही बारिश के कारण गंगा का जलस्तर बढ़ने का खतरा सता रहा है. इस बारिश में गंगा का रूद्र रूप देखने को तब मिला जब गंगा तट पर स्थित सूर्य मंदिर का एक हिस्सा तेज बारिश के दौरान गिर गया. 

29 सितम्बर 2019, 19:17 बजे

मुंगेर में इतनी ज्यादा बारिश हो रही है कि बाढ़ का पानी शक्तिपीठ चंडिका स्थान में प्रवेश कर गया जिसके बाद 48 वर्षों बाद इस साल श्रद्धालु नवरात्र के अवसर पर मां चंडिका की पूजा से पूरी तरह वंचित हो गए हैं. बाढ़ का पानी मां चंडिका के गर्भगृह में भर जाने के कारण मंदिर के मुख्य द्वार को सुरक्षा की दृष्टि से जिलाधिकारी ने बंद कर दिया है. बताया जाता है सन 1971 में जिले में आयी भीषण बाढ़ के कारण नवरात्र में भक्त मां चंडिका की पूजा नहीं कर पाए थे.

29 सितम्बर 2019, 19:16 बजे

सुपौल जिले में बीते तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश से चारों तरफ पानी ही पानी भर गया है शहर में हर जगह पानी ही पानी नजर आ रहा है, समाहारणालय से लेकर पावर ग्रिड तक में बारिश का पानी लबालब है. हालांकि, प्रशासन द्वारा पानी निकासी के लिए जुगत की जा रही है. कहीं, पम्प सेट लगाकर तो कही जेसीबी से नाले का निर्माण कर बावजूद इसके पानी की निकासी नहीं हो रही है.

29 सितम्बर 2019, 18:10 बजे

पटना में लगातार हो रही भारी बारिश से पूरा शहर जलमग्न हो गया है. यहां तक की पटना का ऐतिहासिक गांधी मैदान में पानी भर गया है. पटना के सभी वीआईपी इलाके और कई चौराहे पर भी घुटने तक पानी भरा हुआ है. शहर के लगभग सभी सड़कें डूब चुकी हैं. लोगों का घरों से निकलना तक मुश्किल हो गया है.

29 सितम्बर 2019, 13:33 बजे

सीएम नीतीश कुमार बाढ़ राहत को लेकर मीटिंग कर रहे हैं. सरदार पटेल भवन में मीटिंग चल रही है. आपदा विभाग की तैयारियों का सीएम जायजा ले रहे हैं. साथ ही पटना के डीएम रवि कुमार ने लगातार हो रहे बारिश की वजह से जिले के प्राइवेट और सरकारी स्कूलों को 30 सितंबर और 1 अक्टूबर को बंद कर दिया गया है. वहीं, बिहार के बेगूसराय जिले में पिछले 3 दिनों से लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त है और इसकी वजह से जिले के अलग-अलग हिस्सों में आधा दर्जन घर गिर गए हैं. 

29 सितम्बर 2019, 12:41 बजे

पटना में लगातार बारिश के बाद स्थिति बहुत ही बुरी हो गई है. वहीं, संप हाउस बंद होने के कारण फिर से निचले इलाके में पानी बढ़ने लगा पानी है. संप हाउस चालू रहने पर पानी ही जमा पानी की निकासी होती रहती है. आर ब्लॉक, अदालतगंज, डाक बंगला, मीठापुर,  कमला नेहरू नगर इलाके में सर तक पानी होने से लोगों की मुश्किलें बढ़ रही है. वहीं, बीएसएनएल सेवा ठप होने से भी लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है.