झारखंड: चतरा में पागल कुत्तों को आतंक, तीन दिनों 70 लोगों को बनाया शिकार

 चतरा शहर में इन दिनों पागल कुत्तों ने आतंक मचा रखा है. इससे शहर के लोगों में दहशत का माहौल बन गया है. इनके आतंक का अंदाजा महज इसी बात से लगाया जा सकता है कि मात्र तीन दिनों में कुत्तों ने 70 लोगों को अपना शिकार बनाया है.

झारखंड: चतरा में पागल कुत्तों को आतंक, तीन दिनों 70 लोगों को बनाया शिकार
कुत्तों की वजह से शहर के लोगों में दहशत का माहौल बन गया है.

चतरा: झारखंड के चतरा शहर में इन दिनों पागल कुत्तों ने आतंक मचा रखा है. इससे शहर के लोगों में दहशत का माहौल बन गया है. इनके आतंक का अंदाजा महज इसी बात से लगाया जा सकता है कि मात्र तीन दिनों में कुत्तों ने 70 लोगों को अपना शिकार बनाया है.

फिलहाल, स्थिति ऐसी है कि लोग राह चलने में भी घबराने लगे हैं. कुत्तों के इस आतंक के कारण कई अभिभावकों ने अपने बच्चों को स्कूल जाने से लेकर खेलने पर भी रोक लगा रखा है. कुत्तों ने सबसे अधिक अपना शिकार 5 से 14 साल तक के बच्चों को ही बनाया है.

इतना ही कुत्ते इंसान के साथ साथ बकरी और बाकी जानवरों को भी काट रहा है. इसका सबसे अधिक आतंक केशरी चौक से लेकर समाहरणालय तक जाने वाली सड़क पर है.
मुहल्ले में दहशत का माहौल है. लोगों की नगरपालिका से शिकायत है कि कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

वहीं, फार्मासिस्ट नीरज कुमार बताते हैं कि मंगलवार को एक ही दिन में पागल कुत्ता ने 35 लोगों को शिकार बनाया. जबकि बुधवार को 20 को तथा गुरुवार को 15 लोगों को काटा है. उन्होंने बताया कि रैबीज का पर्याप्त वैक्सीन अस्पताल में उपलब्ध नहीं है. फिलहाल एक-एक डोज पीड़ितों को दिया गया है.

सदर अस्पताल के उपाधीक्षक हरिद्वार सिंह ने बताया कि कुत्ता काटने से जख्मी होकर अस्पताल आने वाले लोगों को शुरुआती तौर पर एक-एक डोज दे दिया गया है. उन्होंने बताया कि अस्पताल में एंटी रैबीज वैक्सीन की कमी तो है लेकिन इसे मंगाया जा रहा है.