close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कटिहार: खतरे के निशान तक पहुंची महानंदा, 42 मोटरबोट सहित मेडिकल टीम तैनात

मौसम विभाग ने अररिया, मोतिहारी, बेतिया, सुपौल, सीतामढ़ी, मधुबनी, भागलपुर, खगड़िया, पूर्णिया और मधेपुरा में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. भारी बारिश की संभावना को देखते हुए पूर्वी चंपारण और मोतिहारी में धारा 144 लगाई गई है. वहीं, कटिहार में स्थिति बिगड़ती जा रही है. 

कटिहार: खतरे के निशान तक पहुंची महानंदा, 42 मोटरबोट सहित मेडिकल टीम तैनात
. भारी बारिश की संभावना को देखते हुए पूर्वी चंपारण और मोतिहारी में धारा 144 लगाई गई है.

पटना: बिहार में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है. भारी बारिश के कारण पहले ही कोसी और गंडक जैसी नदियां उफान पर हैं और अररिया, सुपौल, पूर्णिया, मोतिहारी और बगहा के कई प्रखंडों में बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं.

मौसम विभाग ने अररिया, मोतिहारी, बेतिया, सुपौल, सीतामढ़ी, मधुबनी, भागलपुर, खगड़िया, पूर्णिया और मधेपुरा में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. भारी बारिश की संभावना को देखते हुए पूर्वी चंपारण और मोतिहारी में धारा 144 लगाई गई है. वहीं, कटिहार में स्थिति बिगड़ती जा रही है. 

कदवा-आजमनगर और प्राणपुर प्रखंड में हाई अलर्ट जारी किया गया है. तटबंध के निचले इलाकों के गांवों को प्रशासन आगाह किया. इलाके में 42 नाव और दो मोटरबोट सहित स्वस्थ महकमा की टीम को प्रशासन ने नियुक्त किया है. इलाके के निचले 70 गांव महानंदा नदी के फैले पानी से प्रभावित हैं. वहीं, किसानों ने खेत मे धान की रोपनी किया ठप.

नेपाल के तराई क्षेत्रों में लगातार बारिश के बाद गंडक नदी के जलस्तर में भारी वृद्धि हुई है. बाल्मीकि नगर गंडक बराज से शनिवाह सुबह 8 बजे तक 1,79,600 क्यूसेक पानी डिस्चार्ज हुआ है. पिछले 24 घंटे से लगातार गंडक नदी का जलस्तर में वृद्धि जारी है ऐसे में उत्तर बिहार में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. अगर ऐसे ही बारिश होती रही तो बगहा, बेतिया, गोपालगंज सहित उतर बिहार के कई इलाके बाढ़ के चपेट में आ सकते हैं.