close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नालंदा: प्रधानमंत्री सड़क योजना में हुई बड़ी गड़बड़ी, एक महीने में ही टूटने लगी सड़क

इधर घटिया निर्माण की जानकारी मिलने पर जिलाधिकारी योगेंदर सिंह ने इस मामले की जांच दूसरे विभाग के कार्यपालक अभियंता से कराये जाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि जांच के बाद सम्बंधित एजेंसी और विभागीय अभियंता पर कार्रवाई की जाएगी.

नालंदा: प्रधानमंत्री सड़क योजना में हुई बड़ी गड़बड़ी, एक महीने में ही टूटने लगी सड़क
जांच के बाद सम्बंधित एजेंसी और विभागीय अभियंता पर कार्रवाई की जाएगी. (फाइल फोटो)

नालंदा: बिहार के नालंदा में प्रधानमंत्री सड़क योजना में बड़े पैमाने गड़बड़ी का मामला उजागर हुआ है. करीब साढ़े दस करोड़ से अधिक की लागत से निर्मित सड़क एक महीने में ही टूटने लगी है. जगह-जगह गढ्ढे हो गए हैं जिससे वाहनों को चलने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है. 

इधर घटिया निर्माण की जानकारी मिलने पर जिलाधिकारी योगेंदर सिंह ने इस मामले की जांच दूसरे विभाग के कार्यपालक अभियंता से कराये जाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि जांच के बाद सम्बंधित एजेंसी और विभागीय अभियंता पर कार्रवाई की जाएगी.

दरअसल यह पूरा मामला है थरथरी प्रखंड के कचहरिया पंचायत के हांसेपुर गांव से कचहरिया होते हुए जूडी गांव का है. करीब 6 किलोमीटर की इस सड़क का निर्माण ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा ग्रामीण कार्य विभाग हरनौत प्रमंडल के माध्यम से कराई गई थी. 

इलाके के मुखिया सुनील कुमार उर्फ पप्पु का कहना है कि निर्माण एजेंसी को उन्होंने आगाह किया था लेकिन इसके बाद भी इसके ठेकेदार ने मनमानी तरीके से पूरी तरह घटिया निर्माण किया है. यानि सीधे तौर पर यह कहा जा सकता है की नालंदा में केंद्र के पैसे का बड़े पैमाने पर घोटाला किया जा रहा है.