Bihar E-Vimarsh में मंगल पांडेय ने कहा- कोरोना की तीसरी लहर के लिए सरकार मुस्तैद

Bihar News: कोरोना के दूसरे फेज पर मंगल पांडेय ने कहा कि अनुभवों से जीत मिली है.  

Bihar E-Vimarsh में मंगल पांडेय ने कहा- कोरोना की तीसरी लहर के लिए सरकार मुस्तैद
मंगल पांडेय ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर के लिए सरकार तैयार है (फाइल फोटो)

Patna: जी बिहार झारखंड के ई विमर्श कार्यक्रम में सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि कोरोना का सेकंड फेज बेहद चुनौतीपूर्ण रहा लेकिन पहले फेज से जो अनुभव मिला था, जो सीख मिली थी उसकी वजह से हमने सेकंड फेज के चुनौती को समय रहते काबू में कर लिया है. 
 
मंगल पांडे ने कहा कि अगर कोरोना के पहले फेज और दूसरे फेज की तुलना करें तो पहले फेज में हमें कोरोना वायरस को लेकर या इसके रोकथाम को लेकर कोई भी जानकारी नहीं थी लेकिन तब समय पर एहतियात बरतने की वजह से हमने इस पर काबू पा लिया था. 
 
वहीं, दूसरे फेज पर मंगल पांडेय ने कहा कि जो एक्सपीरियंस और जो सीख हमें कोरोना के पहले फेज के दौरान मिली थी उसी की वजह से कोरोना के दूसरे पेज में चुनौतीपूर्ण स्थितियां होते हुए भी हमने इस पर काबू किया.
 
पहले फेज में पीपीई किट से लेकर वेंटिलेटर तक की चुनौती थी लेकिन हमने इन तमाम चुनौतियों से सीख ली. वहीं, दूसरे फेज में ऑक्सीजन की किल्लत सबसे बड़ी चुनौती बनी. इसके अलावा, हमने यह महसूस किया कि हमें अस्पतालों में और बेहतर प्रबंधन की जरूरत है.
 
मंत्री ने कहा कि मेडिकल स्टाफ से लेकर डॉक्टरों को बड़ी संख्या में नियुक्त करने की जरूरत है. वहीं अस्पतालों में बेड की कमी को लेकर मंगल पांडे ने कहा कि बेड की कमी नहीं थी. उन्होंने कहा कि बेड की कमी को लेकर इस तरह की बात फैलाई गई थी कि अस्पतालों में बेड नहीं है. सभी जगह बेड  उपलब्ध थे. हां कोविड  डेडिकेटेड अस्पतालों में क्योंकि संक्रमितों की संख्या बेहद ज्यादा थी, ऐसे में वहां पर चुनौती थी.
 
इसके साथ ही इस बार ऑक्सीजन की भी ज्यादा जरूरत पड़ी मंगल पांडे ने विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि विपक्ष को सिर्फ सरकार पर सवाल करने आता है लेकिन सरकार ने चुनौतीपूर्ण हालात को कैसे काबू किया यह विपक्ष नहीं बताएगा.
 
एमएलए और एमएलसी फंड पर विपक्ष के सवाल पर मंगल पांडे ने कहा कि समय आने पर सरकार एक-एक रुपए का हिसाब देगी क्योंकि सूबे के मुखिया नीतीश कुमार का साफ तौर पर कहना है कि जो भी लोग कोरोना से मरे हैं उनके परिजनों को फौरन मुआवजा राशि उपलब्ध कराई जाए.
 
इसके लिए 38 जिलों के डीएम से लिस्ट मांगी गई है ताकि पता चल सके कि कितने लोगों की कोरोना से मौत हुई है और उन्हें राहत दी जानी है. मंगल पांडे ने दावा करते हुए कहा कि बिहार वह इकलौता राज्य है जहां पर कोरोनावायरस से मरने वाले लोगों के परिजनों को सहायता राशि दी जा रही है.

ये भी पढ़ें- Good News: झारखंड में बीते 24 घंटे में एक भी मौत नहीं, CM हेमंत ने Corona Warriors को बोला Thanks
 
मंगल पांडे ने कहा की हालात इतनी जल्दी इसलिए काबू में हुआ कि हमने पिछले साल ही 4000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मंगा लिए थे, जिसकी वजह से समय रहते लोगों को सही इलाज मिला और उनकी जान बचाई जा सकी.
 
वहीं, ऑक्सीजन की किल्लत पर मंगल पांडे ने कहा कि सरकार व्यापक स्तर पर ऑक्सीजन प्लांट लगा रही है जो बेहद जल्द तैयार होगी. कोरोना के तीसरे लहर पर मंगल पांडे ने कहा कि कोरोना के तीसरी लहर को लेकर सरकार पूरी तरह से मुस्तैद है और बातें हमने सेकंड फेज के दौरान सीखा वह करोना के तीसरे लहर से लड़ाई लड़ने में बेहद मददगार साबित होगा.