close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में जल्द होगी 2000 डाक्टरों की स्थाई बहाली : मंगल पांडेय

स्वास्थ्य विभाग इस माह के अंत तक रिक्तियां राज्य तकनीकी आयोग को भेजेगा. फिलहाल विभाग आरक्षण रोस्टर तैयार कर रहा है.

बिहार में जल्द होगी 2000 डाक्टरों की स्थाई बहाली : मंगल पांडेय
स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने की घोषणा. (फाइल फेटो- ट्विटर)

पटना : बिहार के अधिकांश अस्पताल डॉक्टरों की समस्या से जूझ रहा है. कई जगह हॉस्पीटल के भवन तो बन गए हैं, लेकिन डॉक्टरों की कमी के वजह से सिर्फ 'हाथी के दांत' जैसी सूरत बनी हुई है. मरीजों को उसका फायदा नहीं मिल रहा है. खासकर बिहार के ग्रामीण इलाकों के अस्पतालों को इस समस्या से रू-ब-रू होना पड़ता है. इस बीच बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने ऐलान किया है कि जल्द ही 2000 डॉक्टरों की स्थाई बहाली होगी. सरकार की इस घोषणा से तस्वीर बदलने की संभावना दिखने लगी है.

बिहार सरकार ने जल्द ही राज्य में दो हजार डॉक्टरों की स्थाई बहाली की घोषणा की है. स्वास्थ्य विभाग इस माह के अंत तक रिक्तियां राज्य तकनीकी आयोग को भेजेगा. फिलहाल विभाग आरक्षण रोस्टर तैयार कर रहा है.

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि  आयोग अक्टूबर में बहाली का विज्ञापन निकालेगा. दिसंबर या जनवरी से बहाली की प्रक्रिया शुरू होने की संभावना है. इस बार न तो लिखित परीक्षा ली जाएगी और ना ही साक्षात्कार होगा. एमबीबीएस या अन्य संबंधित कोर्स में मिले अंकों के आधार पर बहाली होगी. उल्लेखनीय है कि राज्य में डॉक्टरों की भारी कमी है. सरकारी अस्पतालों में करीब 70 प्रतिशत पद रिक्त हैं.

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह का मामला सामने आने के बाद सरकार भी सतर्क हो गई है. बिहार सरकार के सूचना और जनसंपर्क विभाग बड़े पैमाने पर पत्रकारों की मान्यता रद्द करने की तैयारी में है. फिलहाल राज्य में लगभग 600 मान्यता प्राप्त पत्रकार हैं. इनमे से 200 से अधिक पत्रकारों की मान्यता खत्म की जाएगी. सरकार के इस फैसले को बिहार सरकार के स्वस्थ्य मंत्री ने सही बताया है.