रांची के कई इलाकों में पानी की घोर समस्या, नगर निगम के टैंकर पर निर्भर हैं लोग

कई इलाकों में जलस्तर काफी नीचे चला जाता है हैंडपंप भी काम करना बंद कर देते हैं. इस वजह से आधे से अधिक इलाकों में टैंकर से पानी की सप्लाई करना पड़ रहा है.

रांची के कई इलाकों में पानी की घोर समस्या, नगर निगम के टैंकर पर निर्भर हैं लोग
समय पर मानसून आने बाद भी राजधानी रांची के कई इलाके में पानी की किल्लत है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची: गर्मी शुरू होते ही राजधानी रांची में पानी की समस्या शुरू हो जाती है कई इलाकों में जलस्तर काफी नीचे चला जाता है, हैंडपंप भी काम करना बंद कर देते हैं. इस वजह से आधे से अधिक इलाकों में टैंकर से पानी की सप्लाई करना पड़ रहा है.

समय पर मानसून आने बाद भी राजधानी रांची के कई इलाके में पानी की किल्लत है. एक महीने से रुक रुक कर हो रही बारिश से भी जलस्तर नहीं बढ़ा है. राजधानी रांची के कई इलाकों में टैंकर से पानी सप्लाई पर लोग निर्भर हैं.

हरमू, विद्यानगर, किशोरगंज, मधुकम जैसे इलाके में पानी की समस्या हो रही है. यहां हर दो दिन पर टैंकर आता है और लोगों के घंटो इंतजार के बाद पानी का टैंकर पहुचता है. टैंकर पहुंचते ही वहां सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ रहती है और कई लोगों को पानी नहीं मिल पाता है. 

इस पर रांची की मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि नगर निगम के पास सीमित संसाधन है फिर भी हमने अपनी तरफ से काफी कोशिश किया है कि पानी पहुंचे. इस बार गर्मी के समय में ही कोरोना संक्रमण भी आ गया है. उसी टैंकर से हमे सेनिटाइज भी करना पड़ता है. 

साथ ही उन्होंने कहा है कि रांची के भौगोलिक इस्थिति भी अलग है जिससे बारिश के पानी का ठहराव नही हो पाता है. साथ ही राज्य सरकार से छोटे छोटे जलमीनार बनाने के लिए फण्ड का मांग की गई थी लेकिन नहीं मिल पाया है.