close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: अरवल में पुनपुन नदी बरपा रही कहर, कई गांवों में भरा पानी लेकिन नहीं मिल रही मदद

 पानी की तेज रफ्तार ने अरवल और औरंगाबाद को जोड़ने वाले हाईवे को भी तबाह कर दिया है. दोनों तरफ से आवागमन बाधित हो गया है. लोग किसी तरह गांव में बने स्कूल में रहने पर मजबूर हैं.

बिहार: अरवल में पुनपुन नदी बरपा रही कहर, कई गांवों में भरा पानी लेकिन नहीं मिल रही मदद
यहां लोग गांव में बने स्कूल में शरण लिए हुए हैं.(फाइल फोटो)

अरवल: बिहार के अरवल जिले में पुनपुन नदी कहर बरपा रही है. यहां जल स्तर इतना बढ़ गया है कि पानी लोगों के घरों में घुस गया है. लोग अब सड़क पर आशियाना बना कर जिंदगी गुजारने के लिए मजबूर हैं. पानी की तेज रफ्तार ने अरवल और औरंगाबाद को जोड़ने वाले हाईवे को भी तबाह कर दिया है. दोनों तरफ से आवागमन बाधित हो गया है. लोग किसी तरह गांव में बने स्कूल में रहने पर मजबूर हैं.

सबसे ज्यादा भयावह स्थिति वंशी प्रखंड के अकराउंजा, बेलौरा, शादीपुर, मुनागंज और सिद्धरामपुर समेत दर्जनों इलाकों में हैं. इन गांव में कई लोगों के घर बाढ़ के कारण खत्म हो गए हैं. जिसके बाद यह लोग गांव में बने स्कूल में शरण लिए हुए हैं. कुछ लोग अभी भी घरों में रह रहे हैं. तो वहीं कच्चे मकानों के गिरने की नौबत आ गई है. 

पुनपुन नदी में बाढ़ के कारण अकरौंजा गांव में पानी भर गया है लोगों के पास घर से निकलने के लिए कोई साधन नहीं है. कमर भर पानी में लोग इसी तरह आवाजाही कर रहे हैं. वहीं, लोगों का कहना है कि उनका अरवल, औरंगाबाद सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण न तो कोई प्रशासन की मदद मिलती है और ना ही कोई देखने वाला यहां आता है. पिछले 2 दिनों से हम लोग सड़क पर आशियाना बनाए हुए हैं लेकिन प्रशासन की ओर से इसी तरह का मदद हम लोगों को नहीं मिल रहा है.

लोगों को अब सिर्फ प्रशासन से मदद का ही आसरा रह गया है. लोगों को उम्मीद है कि शायद प्रशासन उनकी भी दुख तकलीफ को समझे और मदद के लिए आगे आए.