मुंगेर: गंगा का जलस्तर बढ़ने से जनजीवन अस्त-व्यस्त, दर्जनों गांवों का संपर्क टूटा

बरियारपुर प्रखंड के एकासी, काला टोला, महादलित मस्ती, मुशहरी, कल्याण टोला, रहिया सहित आधे दर्जन गांव का संपर्क मुख्य सड़क से भंग हो गया है. बरियारपुर विधुत पावर सब-स्टेशन में भी गंगा का पानी प्रवेश कर गया है.

मुंगेर: गंगा का जलस्तर बढ़ने से जनजीवन अस्त-व्यस्त, दर्जनों गांवों का संपर्क टूटा
सब स्टेशन में पानी घुस जाने के कारण इलाके में विद्युत आपूर्ति बाधित हो सकती है.

भागलपुर: बिहार के भागलपुर के बरियारपुर प्रखंड इलाके में गंगा का जलस्तर तेज रफ्तार से बढ़ने के कारण जन-जीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है. वहीं, गंगा का पानी पावर सब स्टेशन में प्रवेश करने से विधुत विभाग को भी काफी परेशानी हो रही है. सब स्टेशन में पानी घुस जाने के कारण इलाके में विद्युत आपूर्ति बाधित हो सकती है.

वहीं, बरियारपुर प्रखंड के एकासी, काला टोला, महादलित मस्ती, मुशहरी, कल्याण टोला, रहिया सहित आधे दर्जन गांव का संपर्क मुख्य सड़क से भंग हो गया है. बरियारपुर विधुत पावर सब-स्टेशन में भी गंगा का पानी प्रवेश कर गया है. अगर गंगा का जल स्तर इसी तरह बढ़ता रहा तो बरियारपुर के लोगों के सामने भी बिजली का संकट खड़ा हो सकता है.

 

विधुत सब स्टेशन कार्यरत एसडीओ का कहना है कि पिछले 17 सितंबर से बाढ़ का पानी ग्रिड में घुसा हुआ है. जिससे ग्रिड में कार्यरत कर्मचारियों को कार्य करने में परेशानी हो रही है. ग्रिड के चारों तरफ जमीन के नीचे केबल बिछा हुआ है. पानी होने के कारण ग्रिड परिसर में कार्य करना बेहद मुश्किल हो गया है.

बरियारपुर में कार्य कर रहे बिजली मिस्त्री ने बताया की अभी ग्रिड शटडाउन नहीं ले पा रही है, जिससे कई ट्रांसफर्मर के एसटी उड़े हुए. वहीं पानी के कारण इन्हें जोड़ा भी नहीं जा सकता. 

ग्रामीणों का कहना है की गंगा का जलस्तर बढ़ने के कारण आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. वहीं बिजली की सप्लाई बाधित होने से भी स्थानीय परेशान है. लोगों ने सरकार से मदद की मांग की. बता दें की लगातार हो रही बारिश और बाढ़ के चलते लोगों के लिए रोजमर्रा के काम करना भी मुश्किल हो गया है. अब लोग इंद्र देवता से बारिश रुकने की प्रार्थना कर रहे हैं.