गीतांजलि एक्सप्रेस को बम से उड़ाने की फिराक में नक्सली, खुफिया विभाग ने रेलवे को किया सतर्क

चक्रधरपुर रेल मंडल को खुफ़िया विभाग ने एक गुप्त जानकारी दी है, जिसके मुताबिक माओवादी अगले 11 अक्टूबर तक किसी भी वक्त गीतांजलि सुपरफास्ट एक्सप्रेस पर हमला कर सकते हैं. 

गीतांजलि एक्सप्रेस को बम से उड़ाने की फिराक में नक्सली, खुफिया विभाग ने रेलवे को किया सतर्क
चक्रधारपुर रेल मंडल से चलती है गीतांजलि एक्सप्रेस.

चाईबासा: चक्रधरपुर रेल मंडल में गीतांजलि सुपरफास्ट एक्सप्रेस (Geetanjali Express) ट्रेन को माओवादियों उड़ाने की फिराक में हैं. खुफिया विभाग ने इसकी सूचना रेल प्रबंधन को सौंपी है. इसके बाद रेलवे (Indian Railway) ने ट्रेनों और स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ा दी है. खासकर गीतांजलि एक्सप्रेस ट्रेन में सुरक्षाबलों की तैनाती की गयी है. वहीं, गीतांजलि एक्सप्रेस ट्रेन के आगे सुरक्षा कारणों से एक मालगाड़ी चलाई जा रही है.

बता दें कि चक्रधरपुर रेल मंडल को खुफ़िया विभाग ने एक गुप्त जानकारी दी है, जिसके मुताबिक माओवादी (Maosit) अगले 11 अक्टूबर तक किसी भी वक्त गीतांजलि सुपरफास्ट एक्सप्रेस पर हमला कर सकते हैं. खबर है कि माओवादी पटरी पर बम लगाकर ट्रेनो को उड़ाने की फिराक में है.

कुचाई, खरसवां, झिंकपानी से माओवादियों का दस्ता इस घटना को अंजाम देने की फिराक में है. माओवादी दस्ते में महिलाएं भी शामिल हैं. घटना को सिनी और महालीमोरूप स्टेशन के बीच अंजाम देने की सूचना खुफिया विभाग ने दी है.

इस सूचना के बाद से रेलवे के सभी सुरक्षा एजेंसी की नींद हराम है. रेल मंडल के आला अधिकारी ट्रेन का समुचित सुरक्षा व्यवस्था के साथ परिचालन को सुनिश्चित कर रहे हैं. आरपीएफ, जीआरपी, इंजीनियरिंग विभाग, परिचालन विभाग, बिजली विभाग सहित चक्रधरपुर रेल मंडल के अन्य विभाग ट्रेनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में जुटे हैं.

चक्रधरपुर रेल मंडल ने अधिकारिक बयान जारी कर कहा है कि चक्रधरपुर रेल मंडल नक्सल प्रभावित इलाके में है, ऐसे में इस तरह की धमकियां खुफिया विभाग रिपोर्ट करती रहती है. जिसपर रेलवे ट्रेनों की सुरक्षा सुनिश्चित करती है. रेलवे की जिम्मेदारी ट्रेनों के सुरक्षित परिचालन है और इसके लिए रेलवे सारे तंत्र लगाकर काम कर रही है.