धनबाद: मकर संक्रांति के मौके पर देवघर में दही-चूड़ा और लाई से सजा बाजार

 एक तरफ तिलकुट की दुकानें सजी हुई हैं तो दूसरी तरफ घर में बनाए गए अलग-अलग तरह के लाई भी मौजूद हैं.

धनबाद: मकर संक्रांति के मौके पर देवघर में दही-चूड़ा और लाई से सजा बाजार
देवघर में मकर संक्रांति को ले सजा बाजार. (प्रतीकात्मक फोटो)

धनबाद: झारखंड के देवघर में मकर संक्रांति को लेकर बाजारों में चहल-पहल देखी जा रही है. देवघर के टावर चौक और मीना बाजार में गुड़ और चीनी के लाई ढ़ेर सारे प्रकारों में आज मकर संक्रांति के लिए तैयार है. बाजारों में उनकी रौनक साफ देखी जा सकती है. देवघर बैद्यनाथ की नगरी है और यहां पर मकर संक्रांति बड़े ही धूमधाम से मनाई जाती है 

यहां बंगला पंचांग को माना जाता है. लिहाजा बाबा मंदिर में 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाएगी. इसमें बाबा भोले को गुड़ तिल दही और चुड़ा का भोग लगाया जाता है. देवघर के मीना बाजार में परंपरागत मिठाइयों की भरमार है. एक तरफ तिलकुट की दुकानें सजी हुई हैं तो दूसरी तरफ घर में बनाए गए अलग-अलग तरह के लाई भी मौजूद हैं.

इसके अलावा तिल का बाजार भी सजा हुआ है. देवघर अपने दही और चूड़ा के लिए मशहूर है. इसलिए यहां 20 से ज्यादा किस्म के चूड़ा बाजार में बिकते हुए देखे जा सकते हैं. देवघर में दही के लिए एडवांस बुकिंग हो चुकी है और अपने खरीददारों के इंतजार में है.

बता दें कि यहां का दही न सिर्फ देवघर में बल्कि आसपास के कई क्षेत्रों में भी एक्सपोर्ट किया जाता है. आसपास के स्थानीय लोग वहां आ कर बाजार की रौनक का लुत्फ उठाते हैं और अपने जरूरत की सामान की खरीद-बिक्री भी होती है.