घर में तय है शादी, दिल्ली में फंसे हैं परिवार के आधे लोग, सरकारी राशन से हो रहा गुजारा

उन्होंने बताया कि वे दिल्ली में घर की साफ-सफाई करती हैं. महिलाएं गाजियाबाद के फ्लाइओवर के नीचे मांग कर किसी तरीके से खा रही हैं और जो दिल्ली सरकार के तरफ से चावल मिल रहा है उसी के ऊपर उनका गुजारा हो रहा है.  

घर में तय है शादी, दिल्ली में फंसे हैं परिवार के आधे लोग, सरकारी राशन से हो रहा गुजारा
घर में तय है शादी, दिल्ली में फंसे हैं परिवार के आधे लोग, सरकारी राशन से हो रहा गुजारा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली/आरा: बिहार के आरा का रहने वाला एक परिवार जो 2 दिन से गाजियाबाद फ्लाइओवर के नीचे बस इंतजार में बैठे हैं कि कोई साधन मिल जाए और वे अपने घर लौट जाएं. उन्होंने बताया कि घर में बेटी की शादी तय हुई है. 5 मई को बारात आना था लेकिन परिवार के आधे लोग दिल्ली में फंस गए हैं.

उन्होंने बताया कि वे दिल्ली में घर की साफ-सफाई करती हैं. महिलाएं गाजियाबाद के फ्लाइओवर के नीचे मांग कर किसी तरीके से खा रही हैं और जो दिल्ली सरकार के तरफ से चावल मिल रहा है उसी के ऊपर उनका गुजारा हो रहा है.
 
उन्होंने बताया कि मालिक उन्हें निकाल चुके हैं. सोसाइटी में कोई में काम करने को दे नहीं रहा है. ऐसे में ना राशन है ना रोजी है तो अब वह करें क्या. अपने घर वापस जाने के लिए बस वाहन की उम्मीद लिए दिल्ली के गाजीपुर फ्लाइओवर के नीचे खड़े होते हैं. किसी भी तरह चाहते हैं कि बता दिया जाए, किस वाहन से उनको बिहार के आरा भेजा जाएगा.

हालांकि, हर दिन की तरह आज भी इनके उम्मीदों पर पानी फिर गया और इनके पास सिर्फ मांग के खाना इकट्ठा कर सुबह से रात तक का जुगाड़ जरूर हो गया है, लेकिन जाने का जुगाड़ अभी तक नहीं हो पाया है.

लॉकडाउन की वजह से बेटी की शादी तक टल गई है. घर के पुरुष गांव में ही रह गए अब महिलाएं दिल्ली में बच गई हैं. वह किसी तरीके से अपने घर चला ले रही हैं. करीब पांच से छह-सात बच्चे इस परिवार में हैं जो इसी तरीके से अपना गुजारा करते हैं.