बिहार: शहीद कुंदन कुमार को दी गई नम आंखो से दी गई विदाई, 6 साल के बेटे ने दी मुखाग्नि

 भारत और चीन सेनाओं के बीच 15-16 जून की रात को गैलवान इलाके में झड़प हुई थी. इस झड़प में एक कर्नल रैंक के अधिकारी समेत कुल 20 जवान शहीद हो गए थे. इसमें, बिहार के पांच जवान मी शामिल हैं.

बिहार: शहीद कुंदन कुमार को दी गई नम आंखो से दी गई विदाई, 6 साल के बेटे ने दी मुखाग्नि
पांच जवानों में से एक नाम सहरसा के कुंदन कुमार का भी है.

सहरसा: भारत और चीन सेनाओं के बीच 15-16 जून की रात को गैलवान इलाके में झड़प हुई थी. इस झड़प में एक कर्नल रैंक के अधिकारी समेत कुल 20 जवान शहीद हो गए थे. इसमें, बिहार के पांच जवान मी शामिल हैं. उन पांच जवानों में से एक नाम सहरसा के कुंदन कुमार का भी है.

गुरुवार को वीर जवान कुंदन कुमार का पार्थिव शरीर राजधानी पटना पहुंचा. इस दौरान, सत्तापक्ष और विपक्ष के तमाम नेता एयरपोर्ट पर मौजूद रहे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद, शुक्रवार को जय किशोर का शव उनके गांव आरन पहुंचा. यहां कुंदन का शव देख उनके परिजनों का बुरा हाल हो गया.

वहीं, कुंदन की अंतिम यात्रा के दौरान, उनके गांव में भारी भीड़ देखी गई और इस दौरान उनकी एक झलक पाने के लिए गांव में लोगों की भीड़ उमड़ गई. वीर जवान जय किशोर की अंतिम यात्रा के दौरान, सब की आंखें नम थी और सभी को शहीद जवान पर गर्व महसूस हो रहा था.

शहीद कुंदन कुमार के छह साल के पुत्र रौशन कुमार ने अपने पिता को दी मुखाग्नि. पूरा माहौल इस पल को देखकर गमगीन हो गया. इससे पूर्व बिहार सरकार के PHED विभाग के मंत्री विनोद नारायण झा, सांसद दिनेशचंद्र यादव, विधायक अरुण कुमार यादव सहित कई नेताओं ने शहीद को दी श्रद्धांजलि. डीएम, एसपी, डीआईजी सहित जिला प्रशासन के तमाम अधिकारी रहे मौजूद.