close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

योगाभ्यास में फेल हुए बिहार सरकार के कई मंत्री, केवल शवासन में ही सबने मारी बाजी

योग और सेहत को लेकर बड़े-बड़े दावे और वादे करनेवाले नेताओं की पोल शुक्रवार को पटना में खुल गयी. एक तरफ पीएम मोदी रांची में योग कर रहे थे. वहीं, दूसरी तरफ बिहार सरकार के कई मंत्री पटना के पाटलीपुत्र खेल परिसर में योगाभ्यास करते नजर आए.

योगाभ्यास में फेल हुए बिहार सरकार के कई मंत्री, केवल शवासन में ही सबने मारी बाजी
योगाभ्यास में फेल हुए बिहार सरकार के कई मंत्री.

पटना : आमतौर पर माना जाता है कि नेता अपनी सेहत के लिए काफी फिक्रमंद होते हैं. समय निकालकर सेहत दुरुस्त रखने के तरीके वह जरुर अपनाते हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर खुद को फिट रखने वाले नेता भी फेल होते नजर आए. बिहार सरकार के ज्यादातर मंत्री योगाभ्यास में फेल हो गए.

योग और सेहत को लेकर बड़े-बड़े दावे और वादे करनेवाले नेताओं की पोल शुक्रवार को पटना में खुल गयी. एक तरफ पीएम मोदी रांची में योग कर रहे थे. वहीं, दूसरी तरफ बिहार सरकार के कई मंत्री पटना के पाटलीपुत्र खेल परिसर में योगाभ्यास करते नजर आए. यह पहला मौका था जब योगाभ्यास में बीजेपी कोटे के मंत्रियों के साथ-साथ जेडीयू कोटे के मंत्री भी शामिल हुए. आमलोगों ने भी वीआईपी लोगों के साथ योग किया.

इस योगाभ्यास में कई मंत्री फेल हो गए. डिप्टी सीएम सुशील मोदी और प्रेम कुमार ज्यादातर योगाभ्यास करने में सफल नहीं हो सके. खासतौर पर मंत्री प्रेम कुमार को योग करने में खासी कठिनाई हुई. वहीं, कई मंत्री अपने बढ़े हुए पेट के कारण योग करने में असफल हो गए. कुछ मंत्रियों ने योगाभ्यास में असफल होने के बाद बैठे-बैठे पैर हिलाना ही बेहतर समझा.

पर्यटन मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि योग करने में पूरी तरह असफल रहे. वही हाल मंत्री महेश्वर हजारी का भी नजर आया. मंत्रियों का हाल ये था कोई भी पोजिशन वो सही तरीके से नहीं ले सके. लेकिन शवासन ही ऐसा योगाभ्यास था, जिसमें सभी मंत्रियों ने बाजी मार ली.

हलांकि योगाभ्यास के दौरान ये भी दिशा निर्देश दिए जा रहे थे कि जिन्हें गंभीर बीमारी है वो आसन न करें. उनके लिए प्राणायाम है या फिर अभ्यास के दौरान शरीर के साथ कोई जोर जबरदस्ती न करें. मंत्रियों ने इन निर्देशों का पालन खूब किया. प्रणायाम अच्छे तरीके से करने की कोशिश सभी मंत्रियों ने की. वहीं, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय और संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने सही तरीके से योग्याभ्यास करने की कोशिश जरुर की.