बिहार सरकार ने मिड-डे मील को लेकर किया बड़ी घोषणा, छात्रों को इस तरह मिलेगा लाभ

क्लास एक से लेकर क्लास पांच तक के बच्चों को 99 रुपए जबकि, क्लास छह से आठ तक के छात्र और छात्राओं को 149 रुपए का भुगतान किया जाएगा.

बिहार सरकार ने मिड-डे मील को लेकर किया बड़ी घोषणा, छात्रों को इस तरह मिलेगा लाभ
शिक्षा विभाग ने मध्याहन भोजन योजना की बजाय, छात्रों के खाते में पैसे ही भेजने का फैसला किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के कारण बिहार के सभी सरकारी स्कूल बंद हैं. लिहाजा क्लास एक से लेकर आठ तक के लाखों छात्र और छात्राओं को मध्याह्न भोजन (Midday Meal) योजना का लाभ नहीं मिल रहा है. ऐसे में अब शिक्षा विभाग ने मध्याहन भोजन योजना की बजाय, छात्रों के खाते में पैसे ही भेजने का फैसला किया है.

छात्र और छात्राओं के खाते में ये पैसे सीधे तौर से भेजे जाएंगे. शिक्षा विभाग ने इसके लिए सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिला कार्यक्रम अधिकारियों को चिट्ठी लिखकर, निर्देश जारी कर दिए हैं. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आर के महाजन ने चिट्ठी लिखकर निर्देश दिए हैं  कि, लाभुक छात्र और छात्राओं के खाते में राशियों का ट्रांसफर भी जल्द किया जाएगा.

निर्देश के मुताबिक,  20 अगस्त तक की रकम भोजन के मूल्य के हिसाब से भेजी जाएगी. क्लास एक से लेकर क्लास पांच तक के बच्चों को 99 रुपए जबकि, क्लास छह से आठ तक के छात्र और छात्राओं को 149 रुपए का भुगतान किया जाएगा. क्योंकि स्कूल में खाना नहीं बन रहा है तो, शिक्षा विभाग ने अनाज बांटने का फैसला किया है.

बता दें कि, बिहार में जब से लॉकडाउन (Lockdown) लागू हुआ है, तब से यहां के सरकारी और निजी स्कूल बंद हैं. लिहाजा मार्च से लेकर अब तक छात्रों के खाते में पैसे के साथ-साथ स्कूलों में अनाज भी बांटा जा रहा है. शिक्षा विभाग ने कहा है कि, अभिभावकों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए, स्कूल आना होगा. इस दौरान, हेडमास्टर भी सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का ध्यान रखेंगे.