बिहार: ट्रकों में भर-भरकर आ रहे प्रवासी श्रमिक, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ रही 'धज्जियां'

दिल्ली से आने वाले मजदूरों से 3000 रुपए किराया भी वसूले जा रहे हैं. कई परिवार तो टेम्पो से भी हरियाणा से यहां तक आ रहे हैं.  

बिहार: ट्रकों में भर-भरकर आ रहे प्रवासी श्रमिक, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ रही 'धज्जियां'
ट्रकों में प्रवासी मजदूर भर-भरकर सफर करने को मजबूर हैं.

कुमार नितेश/अररिया: बिहार के फार्बिसगंज में लॉकडाउन (Lockdown) के बाद, दूसरे प्रदेशों से प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला जारी है. ट्रकों में प्रवासी मजदूर भर-भरकर सफर करने को मजबूर हैं. एक-एक ट्रक में 70 से 80 मजदूर भर-भरकर बिहार आ रहे हैं. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का भी 'मजाक' बनाया जा रहा है.

सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं हो रहा पालन
अभी हाल ही में, उत्तर प्रदेश में हुए भीषण सड़क दुर्घटना के बाद भी, बिहार-यूपी बॉर्डर पर तैनात अधिकारी भी इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं. इस कारण यह मजदूर बिना मास्क (Mask) और सोशल डिस्टेंस के अपनी जान को जोखिम में डाल सफर कर रहे हैं.  

बच्चे-महिलाएं भी कर रहे सफर
फारबिसगंज के नरपतगंज थाना के सामने, पुलिस इन आने-जाने वालो को रोककर पूछताछ कर रही है. इस दौरान, पुलिस अररिया जिला के निवासियों को यहीं रोक लेती है और दूसरे जिलों के प्रवासियों को जाने दे रही है. वहीं, इस तपती धूप में भी ट्रकों में बैठकर छोटे बच्चों के साथ महिलाएं भी सफर कर रही हैं. कई ट्रकों में तो मजदूर छतों पर बैठकर आ रहे हैं तो, कई ट्रकों में जरूरत से ज्यादा मजदूर होने के कारण, कपड़े का झूला बना कर मजदुर उसपर ही बैठकर सफर करने को मजबूर हैं.

श्रमिकों से वसूला जा रहा किराया
इन मजदूरों को ट्रक में लाने के लिए ड्राइवर किराया भी वसूल रहे हैं. दिल्ली से आने वाले मजदूरों से 3000 रुपए किराया भी वसूले जा रहे हैं. कई परिवार तो टेम्पो से भी हरियाणा से यहां तक आ रहे हैं. वहीं, अब्दुल नाम के प्रवासी मजदूर ने कहा कि, हमलोग मुंबई से आ रहे हैं. ट्रक में कुल 60 लोग हैं. रास्ते में अधिकारियों ने रोका था, लेकिन हमलोगों ने अपनी परेशानी बताई जिसके बाद उन्होंने हमें जाने दिया.

एक ट्रक में कुल 75 लोग
इधर, समीम नाम के प्रवासी श्रमिक ने कहा कि, हमलोग 4 दिन पहले हरियाणा से अपनी टेम्पो लेकर चले हैं. टेम्पो में दो बच्चे समेत 4 आदमी हैं. वहीं, दिलीप कुमार ने के प्रवासी श्रमिक ने कहा कि, हमलोग गुड़गावं से आ रहे हैं. ट्रक में कुल 75 लोग हैं. सभी से 2800 रुपए किराया लिया गया है. रास्ते में कहीं भी अधिकारियों ने नहीं रोका.