शहीद पिंटू को श्रद्धांजलि देने देर रात पहुंचे बिहार सरकार के मंत्री, परिजनों ने कहा- 'यह अपमान है'
Advertisement
trendingNow0/india/bihar-jharkhand/bihar503639

शहीद पिंटू को श्रद्धांजलि देने देर रात पहुंचे बिहार सरकार के मंत्री, परिजनों ने कहा- 'यह अपमान है'

शहीद के परिजनों ने मंत्री विजय सिन्हा से कहा कि आप काफी देरी से श्रद्धांजलि देने पहुंचे हैं.

शहीद को श्रद्धांजलि देने देर रात पहुंचे बिहार सरकार के मंत्री.

बेगूसराय : जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए सीआरपीएफ के इंस्पेक्टर पिंटू सिंह के घर श्रद्धांजलि देने बिहार सरकार के मंत्री रविवार को देर रात पहुंचे. इस दौरान शहीद के परिजनों ने मंत्री विजय सिन्हा से कहा कि आप काफी देरी से श्रद्धांजलि देने पहुंचे हैं. परिजनों ने इसे शहीद की शहादत का अपमान बताया. ज्ञात हो कि सीआरपीएफ इंस्पेक्टर पिंटू एक मार्च यानी शुक्रनार को हंदवाड़ा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए थे.

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए बिहार के बेगूसराय के पिंटू सिंह का रविवार को सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. इससे पहले सुबह पटना एयरपोर्ट पर शहीद पिंटू सिंह का पार्थिव शरीर को लाया गया.

JDU, BJP, RJD सभी दल के नेता रहे नदारद
पटना एयरपोर्ट पर कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा छोड़कर ना तो किसी पार्टी के कोई नेता पहुंचे और ना ही सरकार के कोई अधिकारी. सरकार के किसी भी मंत्री के वहां मौजूद नहीं होने से विपक्ष इस पर निशाना साध रहा है. हालांकि, नीतीश कुमार ने रविवार को संकल्प रैली के मंच से पिंटू सिंह को सलाम किया.

राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार
बेगूसराय जिले के शहीद इंस्‍पेक्‍टर पिंटू कुमार सिंह का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव में किया गया. शहीद का शव पहुंचते ही जन सैलाब उमड़ पड़ा. लोगों ने भारत जिंदाबाद और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए. लेकिन विपक्ष ने आरोप लगाया कि सत्ताधारी दल संकल्प रैली को लेकर इतने मस्त थे कि उन्हें शहीद पिंटू सिंह को श्रद्दाजंलि देने का वक्त नहीं मिला.