बिहार: अपराधियों को न प्रशासन से डर न भगवान से, लाखों की मूर्तियां उड़ा ले गए

 मंदिर में स्थापित किए गए राम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान समेत पांच अष्टधातु की मूर्तियों को चुरा ले गए. मंदिर के पुजारी और ग्रामीण बताते हैं कि मूर्ति की कीमत कम से कम बीस लाख के आसपास तो जरूर थी. तभी तो उनका मन लालच में आ गया.

बिहार: अपराधियों को न प्रशासन से डर न भगवान से, लाखों की मूर्तियां उड़ा ले गए
मुजफ्फरपुर के रामजानकी मंदिर से चोरों ने उड़ाई लाखों की अष्टधातु की मूर्तियां.

मुजफ्फरपुर: बिहार में अपराधियों के न सिर्फ हौसले बुलंद हैं बल्कि अब उन्हें किसी से डर नहीं रह गया है. न ही प्रशासन से और न ही पाप-पुण्य की ही कोई फिक्र है. इसलिए तो बिहार के मुजफ्फरपुर में रामजानकी मंदिर से अष्टधातु की मूर्ति को उठा ले फरार हो गए. चोरों को मूर्ति में आस्था नहीं बल्कि उसकी बनावट और उसकी कीमत दिकी. लाखों की मूर्ति चोरी से ग्रामीण अचरज में हैं. 

पूरा मामला मुजफ्फरपुर के कुढ़नी थाना क्षेत्र के अख्तियारपुर परयां की है. वहां से चोरों ने एक नहीं कई मूर्तियां एक साथ उड़ा लिए. मंदिर में स्थापित किए गए राम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान समेत पांच अष्टधातु की मूर्तियों को चुरा ले गए. मंदिर के पुजारी और ग्रामीण बताते हैं कि मूर्ति की कीमत कम से कम बीस लाख के आसपास तो जरूर थी. तभी तो उनका मन लालच में आ गया.

कुढ़नी थाना क्षेत्र के वार्ड 6 में स्थित प्राचीन रामजानकी मंदिर है जहां मंदिर परिसर के गर्भ गृह में स्थापित रामजानकी, लक्ष्मण, हनुमान, समेत पांच अष्टधातु की मूर्तियां रखी हुई थी. इस पर चोरों ने अपना हाथ साफ किया और चलते बने. घटना की जानकारी मिलने पर ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी. इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया और छानबीन में जुट गई.

मंदिर समिति के सचिव उमेश कुंवर ने बताया कि 1974 में स्थापित मूर्तियों की कीमत 75000 रुपये थी. वर्तमान में इसकी कीमत 20 लाख रुपये बतायी गयी है. सूचना पर पहुंची कुढ़नी थाना पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मोर्चा संभाला.