close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अनंत सिंह ने सफाई में जारी किया वीडियो, छोटन सिंह की गिरफ्तारी पर पूछा यह सवाल...

विधायक ने एक विडियो जारी कर खुद के भागने की खबर को गलत बताया है. साथ ही तीन चार दिनों में कोर्ट में सरेंडर करने की बात भी कही है.

अनंत सिंह ने सफाई में जारी किया वीडियो, छोटन सिंह की गिरफ्तारी पर पूछा यह सवाल...
अनंत सिंह ने वीडियो जारी कर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए हैं. (फाइल फोटो)

पटनाः विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें बढती जा रही हैं. आर्मस एक्ट एक्सप्लोसिव एक्ट और यूएपीए एक्ट लगने के बाद से विधायक फरार चल रहे हैं. इधर पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है. पटना के अलावा झारखंड में भी विधायक की गिरफ्तारी के लिए उनके ठिकानों पर छापेमारी की गयी. लेकिन विधायक हाथ नहीं आए. मामले में पूरी तरह घिरता देख विधायक ने एक विडियो जारी कर खुद के भागने की खबर को गलत बताया है. साथ ही तीन चार दिनों में कोर्ट में सरेंडर करने की बात भी कही है. वहीं, छोटन नाम के सख्स की गिरफ्तारी पर भी सवाल खड़े किए हैं.

अनंत सिंह ने सवाल किया है कि जिस केस में मुझे बरी कर दिया गया. उसी केस में छोटन सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है. जबकि उस पर आरोप है कि अनंत सिंह के निर्देश पर छोटन सिंह ने गोली चलाई है. तो फिर मैं कैसे निर्दोष हो गया. उन्होंने कहा कि लिपि सिंह खुद को न्यायिक बताते हुए केस को हटा लिया है. इससे उनकी छवि लोगों के सामने अच्छी बनी रहेगी. जबकि उसे मुझपर बड़ा केस करने का मौका मिल गया है.

प्रतिद्वंदी भोला सिंह की हत्या के साजिश के खुलासे के बाद निर्दलीय विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं. भोला सिंह और उसके भाई की हत्या करने पहुंचे सूटरों ने जहां पूरे मामले में अनंत सिंह की संलिप्तता स्वीकार कर ली है. वहीं, सूटरों से अनंत सिंह की बातचीत के वायरल ऑडियो ने विधायक की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. 

इसी केस की छानबीन के दौरान पुलिस को अनंत सिंह के लदवां स्थित घर से एक एके 47 रायफल,लोडेड मैग्जीन और हैंड ग्रेनेड भी बरामद हुए. जिसके बाद पुलिस आर्मस एक्ट, एक्सप्लोसिव एक्ट और यूएपीए एक्ट के तहत विधायक की गिरफ्तारी के लिए उनके पटना स्थित सरकारी आवास पर बीते शनिवार को छापेमारी भी की लेकिन विधायक नहीं मिले. 

अनंत सिंह पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए बीते शनिवार से ही अंडरग्राउंड हो चुके हैं. इधर पुलिस ने विधायक की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का भी गठन कर दिया है. विधायक की गिरफ्तारी के लिए पटना के अलावा झारखंड के हजारीबाग में भी उनके ठिकानों पर छापेमारी की गयी . लेकिन विधायक नहीं मिले. पुलिस अब विधायक के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी करने की तैयारी कर रही है. साथ ही बाढ कोर्ट से विधायक के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट भी पुलिस लेने के लिए प्रे कर चुकी है.   

इधर विधायक की फरारी के बीच पुलिस को छापेमारी के दौरान अनंत सिंह के घर से एक डायरी भी हाथ लगी है. डायरी में विधायक के कई गुर्गों के नाम और नंबर दर्ज हैं. साथ ही विधायक के पास मौजूद हथियारों की सूची भी डायरी में विशेष कोड के जरिये दर्ज है. पुलिस सूत्रों की माने तो विधायक के पास फिलहाल 15 हथियार हैं. जो उनकी डायरी से पता चलता है. पुलिस को अनंत सिंह की ये डायरी उनकी बेड के नीचे से मिली थी. डायरी में अनंत सिंह के करीबी लोगों के नाम और नंबर भी दर्ज हैं. जिसके आधार पर पुलिस विधायक के तलाश में जुट गयी है. 

अनंत सिंह के घर से बरामद मोबाईल से भी पुलिस को कई बातों की अहम जानकारी हाथ लगी है. पुलिस सूत्रों की माने तो अनंत सिंह के गुर्गे लगातार मुंगेर हथियार तस्करों के संपर्क में थे. कई दफे अनंत सिंह ने भी हथियार तस्करों से बातें की हैं. पुलिस ने अनंत सिंह के घर से बरामद एके 47 पर दर्ज नंबर की जांच के लिए जबलपुर आयुध फैक्ट्री से जानकारी मंगवाई है. 

पूरे मामले में बुरी तरह घिरता देख विधायक अनंत सिंह ने दो वीडियो जारी किया है. पहला वीडियो रविवार देर रात जारी हुआ. वीडियो में अनंत सिंह ने सफाई दी है कि वो फरार नहीं हैं. अनंत सिंह ने कहा है कि उनके एक दोस्त की तबियत खराब हो गयी है इसलिए वो उसका हालचाल लेने उसके पास आए थे. अनंत सिंह ने छोटन सिंह की गिरफ्तारी पर सवाल खड़े किये हैं. 

अनंत सिंह ने कहा कि गिरफ्तार छोटन सिंह अपराधी नहीं बल्कि उनके कुटुम (रिश्तेदार) हैं. अनंत सिंह ने कहा कि जिस मामले में छोटन सिंह को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने उसी मामले में उन्हें रिहा कर दिया है. जबकि आरोप है कि मेरे ही कहने पर छोटन सिंह ने गोली चलाई थी. जब पुलिस ने मुझे ही मामले में रिहा कर दिया तो फिर छोटन सिंह अपराधी कैसे हैं. 

अनंत सिंह ने कहा कि वो भागे नहीं हैं और तीन चार दिनों में कोर्ट में सरेंडर करेंगे. इससे पहले वो मीडिया से बात भी करेंगे. अनंत सिंह ने कहा कि पूरे मामले पर बातचीत करने के लिए उन्होंने सीएम नीतीश कुमार से भी संपर्क करने की कोशिश की लेकिन नीतीश कुमार से मिलने का समय नहीं दिया गया.

वहीं, पूरे मामले में विधायक का दूसरा वीडियो सोमवार सुबह मीडिया के हाथ लगा. जिसमें विधायक ने पुरानी ही बात दोहराते हुए बाढ़ की एएसपी लिपी सिंह पर जानबूझकर फंसाने का आरोप लगाया है.