close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धनबादः चर्चित उपमेयर हत्याकांड मामले में विधायक संजीव सिंह की हुई कोर्ट में पेशी

धनबाद जिले के चर्चित उपमेयर नीरज सिंह हत्याकांड मामले में आज जिला न्यायालय में गवाही होनी थी लेकिन मामले के नोडल अधिकारी के हाजिर नहीं होने के कारण आज की गवाही टल गई.

धनबादः चर्चित उपमेयर हत्याकांड मामले में विधायक संजीव सिंह की हुई कोर्ट में पेशी
विधायक संजीव सिंह धनबाद कोर्ट में पेश हुए.

नितेश मिश्रा/धनबादः झारखंड के धनबाद जिले के चर्चित उपमेयर नीरज सिंह हत्याकांड मामले में आज जिला न्यायालय में गवाही होनी थी लेकिन मामले के नोडल अधिकारी के हाजिर नहीं होने के कारण आज की गवाही टल गई. वहीं, इस दौरान न्यायालय सशरीर हाजिर होने पहुंचे झरिया के विधायक सह हत्याकांड के आरोपी संजीव सिंह ने कहा कि एक षडयंत्र के तहत उन्हें इस मामले में फसाया गया है. रही बात आगामी विधानसभा चुनाव की तो समय तय करेगा की चुनाव कौन लड़ेगा.

धनबाद के पूर्व उप मेयर नीरज सिंह सहित चार लोगों की हत्या मामले में गुरुवार को न्यायालय में पेश होने आए मामले के आरोपी सह झरिया से भाजपा विधायक संजीव सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा,  'शुरू से ही इस मामले में मुझे एक षडयंत्र के तहत फसाने की साजिश रची जा रही है. हर गवाह का बयान एक नई कहानी बयां कर रहा है.

वहीं, पुलिसिया अनुसंधान कुछ और कहानी बताता है. यह मेरे खिलाफ एक सोची समझी साजिश है ताकि जबतक मैं बाहर रहूंगा तब तक विरोधी न राजनीतिक और न ही समाज में इजात पा सकेंगे. इसी वजह से मुझे समाज से हटाने की यह एक साजिश रची गई है जो समय के साथ उल्टा पड़ता जा रहा है."

वहीं, झरिया खली करने के सवाल पर संजीव सिंह ने कहा की यह बीसीसीएल की सोची समझी साजित है जो पूरा नहीं होगा. इसके साथ ही उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मीडिया द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए कहा, "झरिया मेरे परिवार का एक अमिट अंग रहा है. वहां का हर सुख-दुख मेरे और मेरे परिवार से जुड़ा है. आज मेरे नहीं रहने पर मेरी पत्नी झरिया वासियों के हर परेशानियों के साथ खड़ी है. रही बात चुनाव लड़ने की तो यह समय तय करेगा की वहां से अगला भाजपा का विधानसभा प्रत्याशी कौन होगा.

बता दें कि पूर्व मेयर नीरज सिंह हत्या कांड मामले में अबतक 32 गवाहों की गवाही गुजर चुकी है. जबकि इस मामले में कुल 58 गवाहों की गवाही न्यायालय के सामने कलमबद्ध की जानी है.