बिहार: डुप्लेक्स देखने परिवार के संग पहुंचने लगे MLC, खुशी का कर रहे इजहार

आवास के अंदर की अच्छाई और कमियों को बारीकी से देखा जा रहा है. मोबाइल में कैद किया जा रहा है, ताकि संबंधियों और परचितों को बताया जा सके. नए आवास से सब खुश नजर आ रहे हैं.

बिहार: डुप्लेक्स देखने परिवार के संग पहुंचने लगे MLC, खुशी का कर रहे इजहार
बिहार विधानपरिषद के सदस्यों के मिला है डुप्लेक्स.

पटना: विधान परिषद सदस्यों (MLC) के लिए जो आवास बनाये गये हैं, उन्हें देखने के लिए MLC परिवार के साथ पहुंचने लगे हैं. साथ ही गृह प्रवेश की तारीख भी तय कर रहे हैं. परिषद सदस्यों को नए आवास खूब पसंद आ रहे हैं. हालांकि उद्घाटन समारोह में विपक्ष के बड़े नेताओं के शामिल नहीं होने को लेकर सरकार पर सवाल उठ रहे हैं.

विधान परिषद सदस्यों के लिए बनी कॉलोनी में उद्घाटन के 24 घंटे के बाद ही चहल-पहल बढ़ती हुई दिख रही है. अभी भले ही किसी सदस्य ने गृह प्रवेश नहीं किया है, लेकिन परिवार के साथ नए आवास को देखने के लिए पहुंच रहे हैं. आवास के अंदर की अच्छाई और कमियों को बारीकी से देखा जा रहा है. मोबाइल में कैद किया जा रहा है, ताकि संबंधियों और परचितों को बताया जा सके. नए आवास से सब खुश नजर आ रहे हैं.

अपने लिए आवंटित आवास के साथ सदस्य अन्य आवासों को भी देख रहे हैं और उनसे अपने आवास की सुविधाओं का मिलान कर रहे हैं. इसके बीच उद्घाटन में विपक्ष की नेता राबड़ी देवी, RJD प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा के नहीं शामिल होने पर सवाल खड़े हो रहे हैं. विपक्ष का कहना है कि सरकार ने सही तरीके से बुलाया नहीं.

भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी विपक्ष के सवाल को सिरे से खारिज कर रहे हैं और कह रहे हैं कि व्यस्तता की वजह से विपक्ष के नेता नहीं आए होंगे. वहीं, सरकार में सहयोगी बीजेपी भी विपक्ष को नसीहत दे रही है.

यह पहला मौका नहीं है, जब विपक्ष के बड़े नेताओं ने सरकारी आयोजन का बहिष्कार किया है या फिर उसमें शामिल नहीं हुये हैं. इससे पहले भी कई बार ऐसे मौके आए हैं, जब विपक्ष के नेता कार्यक्रम से अनुपस्थित रहे हैं. हालांकि एमएलसी कलोनी को लेकर एक अच्छी बात ये है कि अभी तक अलग-अलग इलाके में मिले आवासों में रह रहे परिषद सदस्य कुछ ही दिनों में एक ही कैंपस में रहते हुये दिखेंगे.