close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में फिर मॉब लिंचिंग, बच्चा चोरी के आरोप में शख्स को लाठी-डंडों से पीटकर मार डाला

नौबतपुर थाना क्षेत्र एक शख्स पर बच्चा चोरी का आरोप की अफवाह उड़ी और लोग उस पर टूट पड़े. शख्स की मौत हो गई है.

बिहार में फिर मॉब लिंचिंग, बच्चा चोरी के आरोप में शख्स को लाठी-डंडों से पीटकर मार डाला
पटना में भीड़ ने कर दिया बेरहमी से इंसाफ.

पटनाः बिहार में मॉब लिंचिंग का मामला लगातार सामने आ रहा है. भीड़ इस तरह से कानून को हाथ में लेकर खुद इंसाफ करने में जुट गई है जिससे सरकार से लेकर पुलिस प्रशासन तक सभी सवालिये घेरे में आ गए हैं. जहां प्रशासन मॉब लिंचिंग की घटना को लेकर अभियान चला रही है, लेकिन लोग कानून हाथ में ले रहे हैं. भीड़ इस तरह से दरिंदे की तरह सजा दे रही जिससे लोगों की रूह कांप उठेती है.

ताजा मामला राजधानी पटना से हैं जहां नौबतपुर थाना क्षेत्र के महमतपुर गांव में भीड़ का क्रुर चेहरा देखने को मिला है. लोगों ने एक शख्स पर बच्चा चोरी का आरोप लगाया और बिना किसी तरह का आरोप सिद्ध किए ही उस पर टूट पड़े. उसकी पिटाई लाठी-डंडों से जानवरों की तरह की. किसी जानवर को भी इस तरह बेरहमी से पीटा जाता जैसे उस शख्स को पीटा गया. इस घटना का वीडियो भी वायरल हो रहा है.

खबरों के मुताबिक, महमतपुर गांव में एक शख्स गुजर रहा था लेकिन उस पर किसी ने बच्चा चोरी का आरोप लगाया. यह सुनते ही लोगों ने उसकी पिटाई शुरू कर दी. उसे घसीटने लगे यहां तक उसे लाठी-डंडे से अंधाधुध पीटा गया. उसके बारे में किसी ने तफ्तीश नहीं की और न ही उसका आरोप सिद्ध किया गया. बस अफवाह उड़ी और लोगों ने सारी इंसानियत भूल कर उसे पीटने लगे.

वहीं, पुलिस को जब इस घटना की सूचना मिली तो उसे आनन-फानन में इलाज के लिए अस्पताल ले गई, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. अब इस घटना के बाद पूरा प्रशासन सकते में है. वहीं, मामले में 22 लोगों को गिरफ्तार करने की बात कही जा रही है.

गौरतलब है कि हाल ही में मॉब लिंचिंग की घटना को रोकने और अफवाहों से दूर रहने के लिए लोगों को पुलिस जागरूक कर रही है. राजधानी पटना में ही लगातार अभियान चलाया जा रहा है. लेकिन लोगों ने तो कसम खा रखी है कि वह फैसला खूद करेंगे. लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि वह शख्स आम लोगों में से ही जो बिना इंसाफ के मौत की भेंट चढ़ा दिया जा रहा है.

लोगों को अफवाहों को लेकर सतर्क होना होगा. क्योंकि अगर इस तरह से अफवाहों पर मॉब लिंचिंग होते रही तो उनके अपने भी इस तरह के इंसाफ में पड़ सकते हैं. वहीं, सरकार को इस पर कड़े फैसले लेने की जरूरत है.

बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा है कि नीतीश सरकार को चाहिए की वह इस तरह की घटना को रोकें. उन्होंने सलाह दी कि जिस तरह से राजस्थान और मध्य प्रदेश में मॉब लिंचिंग को रोकने के लिए कानून बनाए गए हैं वैसे ही कानून यहां भी बनाए जाएं.