close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड विधानसभा का मॉनसून सत्र खत्म, आखिरी दिन भी हंगामें के बाद सदन करना पड़ा स्थगित

झारखण्ड विधनसभा के पांच दिन के मॉनसून सत्र का आखिरी दिन भी हंगामें से अछूता नहीं रहा. सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के हंगामे के करण सदन स्थगित हुआ. 

झारखंड विधानसभा का मॉनसून सत्र खत्म, आखिरी दिन भी हंगामें के बाद सदन करना पड़ा स्थगित
झारखंड विधासभा का मॉनसून सत्र समाप्त हो गया. (फाइल फोटो)

रांचीः झारखंड विधानसभा का मॉनसून सत्र शुक्रवार को समाप्त हो गया. हालांकि, सत्र में विधायी काम तो पूरे हो गए लेकिन पांच दिनों के मॉनसून सत्र में काम से ज्यादा हंगामा हुआ. आखिरी दिन भी सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के हंगामे के कारण सदन को स्थगित करना पड़ा.

झारखण्ड विधनसभा के पांच दिन के मॉनसून सत्र का आखिरी दिन भी हंगामें से अछूता नहीं रहा. सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के हंगामे के करण सदन स्थगित हुआ. सदन में विपक्ष की तरफ से निरसा एमएलए अरूप चटर्जी ने सदन की कार्यवाही के दौरान जेवीएनएल के एमडी राहुल पुरवार के 2.5 प्रतीशत कमीशन मांगने का मामला उठाया और कार्यस्थगन लाने के बाद सदन में स्थित असहज हो गई और हंगामे के कारण सदन स्थगित करना पड़ा.

सदन में विपक्ष ने जेवीएनएल के एमडी राहुल पुरवार के बहाने सीएम पर निशाना साधने की कोशिश की तो संसदीय कार्यमंत्री नीलकंठ मुंडा सहित पूरा विपक्ष भड़क गया. संसदीय कार्य मंत्री ने सदन में ही विपक्ष पर हमलावर होते हुए कहा, जब कही मुख्यमंत्री का जिक्र नहीं तो सदन में सीएम पर आक्षेप कैसे लगाया.

सदन में अब एक तरफ पूरा विपक्ष तो दूसरी तरफ सरकार के कई मंत्रियों ने सदन में ही विपक्ष के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. साथ ही कहा, बिना प्रमाण के आरोप में कोई दम नहीं है।साथ ही ये भी कहा, रघुवर सरकार पर साढ़े 4 साल में कोई भी भरस्टाचार का आरोप नहीं लगा है.