बिहार: CM नीतीश ने अधिकारियों संग की बैठक, कहा-जल्द ही और टेस्ट सेंटर खोले जाएंगे

नीतीश कुमार ने लोगों से अपील किया कि अगर किसी ने यात्रा की है तो वह सामने आए और अपनी जांच कराएं. साथ ही मुख्यमंत्री अधिकारियों से जांच क्षमता बढ़ाने का निर्देश दिया. सीएम ने कहा कि जल्द ही टेस्ट के लिए और सेंटर खोले जाएंगे.

बिहार: CM नीतीश ने अधिकारियों संग की बैठक, कहा-जल्द ही और टेस्ट सेंटर खोले जाएंगे
बिहार: CM नीतीश ने अधिकारियों संग की बैठक, कहा-जल्द ही और टेस्ट सेंटर खोले जाएंगे. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को लेकर राजधानी पटना में गुरुवार को बैठक की. इस उच्चस्तरीय बैठक में मुख्य सचिव समेत कई अधिकारी मौजूद रहे. इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना के हॉटस्पॉट (Hotspot) बने क्षेत्रों में प्रोटोकॉल के मुताबिक कार्रवाई का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जिन इलाकों में पीड़ित मिले, वहां टेस्ट बढ़ाए जाएं. साथ ही जिन लोगों ने विदेश यात्रा की है, वह छुपाएं नहीं बल्कि बताएं. उन्होंने कहा ट्रैवेल हिस्ट्री छुपाने वाले खुद को परिवार और समाज को खतरे में डाल रहे हैं.

नीतीश कुमार ने लोगों से अपील किया कि अगर किसी ने यात्रा की है तो वह सामने आए और अपनी जांच कराएं. साथ ही मुख्यमंत्री अधिकारियों से जांच क्षमता बढ़ाने का निर्देश दिया. सीएम ने कहा कि जल्द ही टेस्ट के लिए और सेंटर खोले जाएंगे.

गौरतलब है कि बिहार में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. इसके मद्देनजर सरकार लगातार जरूरी कदम उठा रही है.

वहीं, गुरुवार को एक ही दिन बिहार में 12 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए. बिहार स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा कि गुरुवार को 12 लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. इसमें से 10 सीवान जिले के हैं.
 

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, अब तक बिहार के 11 जिलों में से कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज मिले हैं. इनमें से सबसे ज्यादा सीवान में 20, पटना में 5, मुंगेर में 7, नालंदा में 2, गया में 5, गोपालगंज में 3, बेगूसराय में 5, लखीसराय, सारण, नवादा और भागलपुर में एक-एक मरीज मिले हैं.

इससे पहले बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा था कि बेगूसराय में 5-6, नवादा में 1 और सीवान में जहां-जहां कोरोना संक्रमित केस मिला है, वह हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित किए गए हैं. उन्होंने कहा कि पॉजिटिव केस वाले इलाकों को पूरी तरह से सील कर दिया गया है और वहां से कोई भी नहीं निकल पाएगा.