close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना मेट्रो प्रोजेक्ट का रास्ता साफ, सीएम नीतीश की मौजूदगी में DMRC के साथ हुआ MoU

पटना मेट्रो का रास्ता साफ हो गया है. आज पटना में बिहार सरकार और दिल्ली मेट्रो कॉर्पोरेशन के साथ समझौता हुआ है. 

पटना मेट्रो प्रोजेक्ट का रास्ता साफ, सीएम नीतीश की मौजूदगी में DMRC के साथ हुआ MoU
पटना में बिहार सरकार और दिल्ली मेट्रो कॉर्पोरेशन के साथ समझौता हुआ है.

पटना: बिहार की राजधानी पटना में भी लोगों को दिल्ली जैसे शहरों की तरह मेट्रो की सुविधा मिलेने जा रही है. पटना मेट्रो का रास्ता साफ हो गया है. आज पटना में बिहार सरकार और दिल्ली मेट्रो कॉर्पोरेशन के साथ समझौता हुआ है. 

बिहार सरकार और दिल्ली मेट्रो कॉर्पोरेशन के बीच करारनामा किया गया है. इस दौरान खुद सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे.  साथ इस खास मौके पर नगर विकास के प्रधानसचिव चैतन्य प्रसाद समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे.

आपको बता दें कि पटना मेट्रो का काम इस साल शुरू होगा. अगले तीन साल के बाद पटनावासी मेट्रो का लुफ्त उठा सकेंगे. लेकिन ये पूरा प्रोजेक्ट पांच साल में पूरा होगा.

 

बिहार में पटना मेट्रो प्रोजेक्ट में तेजी लाई जा रही है. सीएम नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्टों में से एक पटना मेट्रो है. इस प्रोजेक्ट का काम अब तक कागजों पर चल रहा था. लेकिन अब इसके जमीन पर उतरने की तैयारी हो गई है. पटना मेट्रो के लिए जमीन चिन्हित करने का काम भी शुरू हो गया है.

साथ ही आपको बता दें कि पटना मेट्रो डीपीआर बनकर तैयार हो गया है और पटना मेट्रो के अंतर्गत दो कॉरिडोर बनाया जाएगा. पहला कॉरिडोर 16.94 किलोमीटर का होगा तो दूसरा कॉरिडोर 14.45 किलोमीटर का होगा. पहले कॉरिडोर के अंतर्गत दानापुर से पटना जंक्शन होकर मेट्रो मीठापुर तक जाएगी. 

इस मेट्रो रूट में शगुना मोड़, आरपीएस मोड़, पाटलीपुत्रा, रुकनपुरा, राजा बाजार, गोल्फ क्लब, पटना जू, विकास भवन, हाई कोर्ट, इंकमटैक्स चौराहा, पटना स्टेशन, मीठापुर स्टेशन होंगे. 

वहीं, दूसरे कॉरिडोर में पटना जंक्शन से लेकर न्यू आईएसबीटी तक जाएगी. इस कॉरिडोर में पटना स्टेशन से आकाशवाणी, गांधी मैदान, पीएमसीएच, यूनिवर्सिटी, प्रेमचंद, नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल, कुम्हरार,  गांधी सेतु, जीरो माइल से आईएसबीटी तक जाएगी. 

पहले कॉरिडोर में अंडर ग्राउंड रूट कुल मिलाकर 11.21 किलोमीटर होगा और एलिवेटेड रूट 5.49 किलोमीटर होगा तो वहीं, दूसरे कॉरिडोर में अंडरग्राउंड रूट 4.55 किलोमीटर होगा और एलिवेटेड रूट 9.9 किलोमीटर का होगा.

मुख्य सचिव ने बिहारवासियों को भरोसा दिलाया है कि मेट्रो का काम इस साल के अंत तक शुरू हो जाएगा. आज नगर विकास विभाग ने मेट्रो मोबिलिटी प्लान पर प्रजेंटेशन भी दिया है. इसका प्रस्ताव जल्द ही केंद्र सरकार को भेजा जाएगा और केंद्र सरकार से हरी झंडी मिलते ही पटना मेट्रो पर काम शुरू हो जाएगा. अब देखना ये होगा कि बिहार के लोगों का आखिरकार मेट्रो का इंतजार कब तक खत्म होता है.