सुशांत केस: मुंबई पुलिस ने बिहार पुलिस के साथ की बदसलूकी, मीडिया से बात करने से रोका

 बिहार पुलिस की अधिकारियों को मुंबई पुलिस ने रोक दिया है और जबरन बिहार पुलिस को वैन में अपने साथ बिठाकर ले गई है. दरअसल, बिहार पुलिस की टीम सुशांत सुसाइड केस में जांच के लिए मुंबई गई हुई है और आज जो तस्वीर सामने आई है वो चौंकाने वाली है.

सुशांत केस: मुंबई पुलिस ने बिहार पुलिस के साथ की बदसलूकी, मीडिया से बात करने से रोका
बिहार पुलिस के अधिकारियों को मुंबई पुलिस जबरन अपने साथ वैन में बैठा कर ले गई है.

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत मामले में जांच में जुटे बिहार पुलिस की अधिकारियों को मुंबई पुलिस ने रोक दिया है और जबरन बिहार पुलिस को वैन में अपने साथ बिठाकर ले गई है. दरअसल, बिहार पुलिस की टीम सुशांत सुसाइड केस में जांच के लिए मुंबई गई हुई है.

यहां तक कि बिहार पुलिस के अधिकारियों को मीडिया से भी बात करने से मुंबई पुलिस ने रोका है. आप नीचे वीडियो में भी देख सकते हैं कि किस तरह से बिहार पुलिस को मुंबई पुलिस अपने साथ जबरन लेकर जा रही है. आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस के मामले में अब मुंबई पुलिस भी रडार पर आ गई है. 

दरअसल, शाम के वक्त बिहार पुलिस क्राइम ब्रांच के ऑफिस गई थी और उन्होंने मांग की थी कि उन्हें आगे की जानकारी के लिए लोकल पुलिस की मदद चाहिए. लेकिन वहां से जब सभी निकल रहे थे तो बाहर मीडियाकर्मी खड़े थे और बिहार पुलिस बात भी करना चाहती थी लेकिन मुंबई पुलिस नहीं चाहती थी कि बिहार पुलिस मीडिया से बात करे और इसलिए उन्होंने जबरदस्ती वैन में बैठाकर ले गए
 
ऐसे में सवाल ये उठ रहा है कि आखिर मुंबई पुलिस ऐसा क्यों कर रही है. आखिर बिहार पुलिस वहां जांच के लिए गई है तो टीम को सहयोग क्यों नहीं दिया जा रहा है. जिस तरह से पुलिस अपराधियों को पकड़कर ले जाती है कुछ ऐसा ही व्यवहार बिहार पुलिस के साथ मुंबई पुलिस का देखा गया है.

बिहार पुलिस की टीम मुंबई में सुशांत के नौकर, सुशांत के बहन और उनकी एक्स गर्लफ्रेंड के साथ पूछताछ की गई है. अंकिता लोखंडे ने बिहार पुलिस के साथ उस चैट को भी साझा किया है जिसमें सुशांत ने रिया चक्रवर्ती के बारे में बात की है कि वो किस तरह उन्हें परेशान कर रही हैं.

खुद उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने इस तरह की आशंका पहले ही जाहिर की थी. उन्होंने कहा था कि बिहार के अंदर जो एफआईआर दर्ज किया गया था, उस मामले में बिहार पुलिस की टीम को मुंबई पुलिस द्वारा सहयोग नहीं किया जा रहा है. ऐसी स्थिति में जांच सीबीआई को सौंप देना चाहिए. 

दरअसल, शाम के वक्त बिहार पुलिस क्राइम ब्रांच के ऑफिस गई थी और उन्होंने कहा था कि हमें आगे की जानकारी के लिए लोकल पुलिस की मदद चाहिए. लेकिन वहां से जब निकल रहे थे तो सभी मीडियाकर्मी खड़े थे और बिहार पुलिस बात भी करना चाहती थी लेकिन मुंबई पुलिस नहीं चाहती थी कि बिहार पुलिस मीडिया से बात करे और इसलिए उन्होंने जबरदस्ती वैन में बढ़कर भर कर ले जा रहे थे.