close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, एक गिरफ्तार

वीडियो की जब छानबीन की गई तो दुष्कर्म आरोपी की पहचान तारापुर निवासी रूपेश कुमार के रूप में हुई. जिसे गुरूवार की शाम तारापुर पुलिस ने गोगाचक स्थित घर से ही गिरफ्तार कर लिया. 

महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, एक गिरफ्तार
डीआईजी मनु महाराज के आदेश पर हुई कार्रवाई.

प्रशांत/मुंगेर : पूजा करने मंदिर जाने वाली महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हो गया है. महिला से दुष्कर्म का वीडियो वायरल होने पर डीआईजी ने संज्ञान लिया. तारापुर के गोगाचक से एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया. मंदिर जाने के क्रम में सुनसान जगहों पर महिलाओं को जबरदस्ती झाड़ियों में खींच लिया करता था और बलात्कार की घटना को अंजाम देता था. साथ ही बोलने पर जान से मारने की धमकी भी देता था. 

इस मामले में तारापुर थाना की पुलिस ने गोगाचक निवासी कैलाश प्रसाद के पुत्र 28 वर्षीय रूपेश कुमार को गिरफ्तार कर डीआईजी के सामने प्रस्तुत किया. दरअसल, कुछ दिन पूर्व एक महिला के साथ दुष्कर्म का एक वीडियो वायरल हुआ था. जिस पर डीआईजी मनु महाराज ने संज्ञान लेते हुए एसपी राकेश कुमार को मामले की तहकीकात कराने का निर्देश दिया था.

वीडियो की जब छानबीन की गई तो दुष्कर्म आरोपी की पहचान तारापुर निवासी रूपेश कुमार के रूप में हुई. जिसे गुरूवार की शाम तारापुर पुलिस ने गोगाचक स्थित घर से ही गिरफ्तार कर लिया. बताया जाता है कि गिरोह में किसी बात को लेकर फूट पड़ने के कारण गिरोह के सदस्यों द्वारा ही वीडियो को वायरल कर दिया गया और इस मामले का खुलासा हो पाया. 

पुलिस यह भी मानती है कि इस गिरोह द्वारा तारापुर पूजा करने जाने वाली तीन-चार महिलाओं के साथ अब तक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया जा चुका है. हालांकि लोकलाज के भय से दुष्कर्म की शिकार किसी महिला ने इस संबंध में थाने में लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराई थी. अज्ञात द्वारा की गई शिकायत के आधार पर डीआईजी ने संज्ञान लेते हुए इस रैकेट का पर्दाफाश करने में कामयाबी हासिल की.

पुलिस का दावा है कि जिस महिला के साथ दुष्कर्म किया गया है उसकी पहचान कर ली गई है, अन्य दुष्कर्म पीड़ित महिलाओं की भी पहचान जल्द कर उनके बयान के आधार पर आरोपियों को सजा दिलाई जाएगी. पकड़े गए आरोपी रूपेश कुमार ने पुलिस के समक्ष स्वीकार किया कि डेढ़ माह पूर्व बड़ुआ नदी स्थित गोगीचक बांध के समीप गांव के ही कुछ युवकों ने पिस्तौल की नोंक पर जबरन महिला का दुष्कर्म करने के लिए कहा, जिसमें चिरणजीत, राकेश, कुणाल व राजीव शामिल थे.

चिरणजीत दुष्कर्म के दौरान वीडीयो बना रहा था. बाद में सभी ने किसी को यह बात नहीं बताने अन्यथा जान से मारने की धमकी दी थी. इस कारण उसने पुलिस में इसकी शिकायत नहीं की. जिस महिला के साथ दुष्कर्म किया वह कौन थी और कहां की थी, इस संबंध में रूपेश ने अब तक कोई जानकारी पुलिस को नहीं दी है.