बिहार: हड़ताल पर गए मुंगेर नगर निगम के सफाईकर्मी, शहर की सफाई हुई बाधित

बिहार: हड़ताल पर गए मुंगेर नगर निगम के सफाईकर्मी, शहर की सफाई हुई बाधित

बिहार लोकल बॉडी से संबद्ध नगर निगम कर्मचारी संघ के महामंत्री ब्रहमदेव महतो ने बताया कि कर्मचारियों की लंबित मांगों पर बार-बार अधिकारियों द्वारा आश्वासन दिए जाने के बावजूद कर्मचारियों की मांगों पर कोई विचार नहीं किया जा रहा है.

बिहार: हड़ताल पर गए मुंगेर नगर निगम के सफाईकर्मी, शहर की सफाई हुई बाधित

मुंगेर: बिहार के मुंगेर जिले में नगर निगम में कार्यरत सभी सफाईकर्मी व कर्मचारी अपनी मांगों के समर्थन में आज से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर हैं. हड़ताल पर जाने से शहर के सड़क व नालों की साफ सफाई पूरी तरह से बाधित हो गई है. 

बिहार लोकल बॉडी से संबद्ध नगर निगम कर्मचारी संघ के महामंत्री ब्रहमदेव महतो ने बताया कि कर्मचारियों की लंबित मांगों पर बार-बार अधिकारियों द्वारा आश्वासन दिए जाने के बावजूद कर्मचारियों की मांगों पर कोई विचार नहीं किया जा रहा है.

वार्डों में सफाई के दौरान सफाई कर्मियों पर वार्ड पार्षद व उनके परिजनों द्वारा घर में काम करने का दबाव बनाया जाता है. सफाई कर्मियों द्वारा मना करने पर कर्मियों के साथ गाली गलौज व मारपीट की जाती है. इसको लेकर 8 नवम्बर को भी नगर आयुक्त की मांगों का ज्ञापन और सफाई कर्मियों द्वारा मारपीट संबंधी दिए गए आवेदन को सौंपा गया था लेकिन निगम प्रशासन द्वारा मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई.

यही कारण है कि आज से सभी सफाईकर्मी व कर्मचारी अनिश्चित कालीन हड़ताल चले गए हैं. नगर निगम कर्मचारी संघ की मुख्य मांगों में जमादार को पदोन्नति का लाभ दिए जाने, वेतन विसंगति को दूर करते हुए पंचम एवं छठे वेतनमान के अंतर वेतन का भुगतान करने, सभी सेवानिवृत कर्मियों को पेंशन का भुगतान करने का मांग शामिल हैं. 

इसके अलावा वर्ष 2012 से सफाई कर्मियों के काटे जा रहे ईपीएफ को पारदर्शी करने, दैनिक वेतनभोगी मजदूरों को प्रतिदिन मजदूरी 425 रुपया भुगतान करने, अनुकंपा पर बहाली करने, सफाई कर्मियों को ड्रेस, हाथ धोने के लिए साबून, जूता, मास्क, दस्ताना आदि उपलब्ध कराने, सफाई कर्मियों के साथ वार्ड में मारपीट करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने आदि की मांग शामिल है.

Trending news