close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुजफ्फरपुर: बंद होंगे 49 फिल्मी कलाकारों, बुद्धिजीवियों के खिलाफ केस, SSP ने दिए आदेश

सुधीर कुमार ओझा ने 27 जुलाई को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) एसके तिवारी के कोर्ट में परिवाद दर्ज कराया था, जिसकी सुनवाई के बाद सदर थानाध्यक्ष को केस दर्ज कर मामले की जांच के आदेश दिए गए थे. 

मुजफ्फरपुर: बंद होंगे 49 फिल्मी कलाकारों, बुद्धिजीवियों के खिलाफ केस, SSP ने दिए आदेश
एसएसपी ने दिए केस बंद करने के आदेश. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुजफ्फरपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को पत्र लिखने वाले 49 फिल्मी कलाकारों और बुद्धिजीवियों के खिलाफ सुधीर कुमार ओझा (Sudhir Kumar Ojha) द्वारा मामला दर्ज कराया गया था, जिसे अब बंद करने का आदेश दिया गया है. जांच के दौरान कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिलने के बाद एसएसपी ने केस को बंद करने का निर्देश दिया है. एडीजी मुख्यालय जितेंद्र कुमार ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि आवेदक सुधीर कुमार ओझा के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ज्ञात हो कि सुधीर कुमार ओझा ने 27 जुलाई को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) एसके तिवारी के कोर्ट में परिवाद दर्ज कराया था, जिसकी सुनवाई के बाद सदर थानाध्यक्ष को केस दर्ज कर मामले की जांच के आदेश दिए गए थे. इस मामले में अभिनेत्री सेन के अलावा अडूर गोपाल कृष्णन, शुभा दुग्गल, सुमित्र चटर्जी, रेवती, कोंकणा सेन, श्याम बेनेगल, मणिरत्म व इतिहासकार रामचंद्र गुहा सहित कई लोग शामिल थे.

अधिवक्ता ने कहा था कि 23 जुलाई को आरोपित 49 बुद्धिजीवियों ने देश में हो रही उन्मादी हिंसा को लेकर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था. समाचार चैनलों और अखबार में यह बात आई. यह काम देश की छवि खराब करने वाला है. वहीं, सुधीर कुमार ओझा का कहना है कि अनुसंधान सही तरीके से नहीं किया गया है, जितने साक्ष्य पुलिस को दिए गए. उसके बारे में भी पुलिस द्वारा बताया गया कि साक्ष्य नहीं मिला है.

मुजफ्फरपुर एसएपसी के सुपरविजन में केस को असत्य पाते हुए फाइनल रिपोर्ट जारी किया गया है. गलत मामला दर्ज कराने के आरोप में आवेदक पर भी 182/211 के तहत कार्रवाई की अनुशंसा की गई है.