Bettiah में 18 कोरोना संक्रमितों की मौत, कोविड महामारी से सहमे लोग

Bettiah News: बेतिया जिले में पिछले 24 घंटे के अंदर 18 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है. जीएमसीएच बेतिया (GMCH Bettiah) में 16 व दो मौत नरकटियागंज अनुमंडल अस्पताल में हुई है.  

Bettiah में 18 कोरोना संक्रमितों की मौत, कोविड महामारी से सहमे लोग
कोरोना संक्रमण से बेतिया में 18 लोगों की एक दिन में मौत (फाइल फोटो)

Bettiah: पश्चिमी चंपारण समेत बिहार में अभी कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. यही वजह है कि जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के साथ-साथ मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है.
जिले में पिछले 24 घंटे के अंदर 18 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है. जीएमसीएच बेतिया (GMCH Bettiah) में 16 व दो मौत नरकटियागंज अनुमंडल अस्पताल में हुई है.

मौत की खबर को लेकर जिला मुख्यालय में तरह तरह की बातें सामने आ रही हैं जिससे लोगों में डर व दहशत का माहौल बन गया है. दरअसल, बेतिया जिला मुख्यालय स्थित हजारी मैदान में प्रशासन द्वारा बड़े-बड़े गड्ढे खोदे जाने की बात सामने आते ही शहर में डर व दहशत का माहौल कायम हो गया है.

बताया जा रहा है कि एक सप्ताह से प्रशासन की टीम द्वारा यहां रात में गड्ढा खोदा जा रहा है. मैदान के बगल में रहने वाली महिला ने बताया कि एंबुलेंस के साथ साथ अन्य गाड़ियों का काफिला बीते रात यहां पहुंचा और रात में ही यहां गड्ढा खोदा गया था.

हालांकि, जब इस बाबत डीएम कुंदन कुमार से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि अभी जानकारी मिली है इसको देखते हैं. वहीं, डीएम ने बताया कि लावारिस शव को लेकर जिले के तीनों एसडीओ को आवश्यक निर्देश दिया गया है जो लगातार लावारिस शव का अंतिम संस्कार करने से लेकर उसे डिस्पोज करने में जुटे हुए हैं.

ये भी पढ़ें- जब बिहार के मुख्यमंत्री को एक अधिकारी ने कहा- मैं CM बन सकता हूं पर आप IAS नहीं, बाद में बने भारत के विदेश मंत्री

बता दें कि हजारी मैदान में कूड़ा कचरा फेंका जाता हैं जहां बड़े-बड़े गड्ढे खोदे गए हैं. वहीं, गड्ढे के पास से कई तरह का सामान भी बिखरा हुआ मिला है जिसका इस्तेमाल अस्पतालों में किया जाता है. पूरे शहर में चर्चा है कि बड़ी संख्या में कोरोना से लोगों की मौत हो रही है और शव को दफनाने के लिए प्रशासन द्वारा गड्ढा खोदा गया है.

हालांकि, इसकी हकीकत क्या है यह अभी तक पता नहीं चल सका है. घटना से पूरे शहर में डर का माहौल है और जिस तरह से एक दिन में 18 मरीजों की मौत हुई उससे कहीं न कहीं शहरवासियों में अब कोरोना को लेकर भय का माहौल है.

(इनपुट- इमरान)