मुजफ्फरपुर में उपयोग के बाद खुले में फेंकी जा रही है PPE Kit, लापरवाही से सहमे लोग

Muzaffarpur Samachar: जहां पीपीई किट को कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच करने के बाद डिस्ट्रॉय कर देना चाहिए वहां लापरवाही बरतते हुए उसे अस्पतालों के बाहर खुले में सड़कों पर फेंका जा रहा है.

मुजफ्फरपुर में उपयोग के बाद खुले में फेंकी जा रही है PPE Kit, लापरवाही से सहमे लोग
उपयोग के बाद खुले में फेंकी जा रही है PPE Kit. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Muzaffarpur: जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण ने जिले वासियों की नींद उड़ा कर रखती है. प्रतिदिन लोग कोरोना के चलते अपनी जान गवा रहे हैं. आए दिन पॉजिटिव केस की लिस्ट में लोगों के नाम बढ़ते जा रहे हैं.  तो वहीं दूसरी ओर मुजफ्फरपुर में निजी अस्पतालों की मनमानी महामारी में भी देखने को मिल रही है.

जिले के जोरन छपरा, जिसे अस्पतालों का मंडी कहा जाता है, वहां उपयोग करने के बाद पीपीई किट को खुले में सड़कों पर फेंका जा रहा है. कोरोनावायरस जैसी महामारी के समय इस तरह की लापरवाही सामने आने के बाद भी जिला प्रशासन द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है. 

यो भी पढ़ें- Munger में कोरोना का कहर जारी, 262 नए कोरोना मामले आये सामने

दूसरी ओर स्थानीय लोगों में इसको लेकर आक्रांत भय है. जहां पीपीई किट को कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच करने के बाद डिस्ट्रॉय कर देना चाहिए वहां लापरवाही बरतते हुए उसे अस्पतालों के बाहर खुले में सड़कों पर फेंका जा रहा है.

ऐसे में बीमारी का खतरा और बढ़ जाता है. जहां सरकार लगातार कोविड-19 गाइडलाइंस जारी कर रही है, '2 गज दूरी मास्क है जरूरी' जैसी मुहिम चला रही है वहां इस तरह की लापरवाही ने हर किसी की जान पर संकट बना दिया है.

ये भी पढ़ें- तन-मन के साथ 'सेवा ही संगठन अभियान- 2' को सफल बनाए BJP कार्यकर्ता: संजय जायसवाल 

(इनपुट- मनोज)